June 20, 2021
Uncategorized

कोविड 19 अस्पताल से निकले वेस्ट मटेरियल के निष्पादन के लिये बनी टंकी की फुल होने जाने से कचरा फेंका जा रहा है खुले में आसपास के क्षेत्रों में संक्रमण फैलने की आशंका

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा/गीदम,

गीदम:-नगर स्थित 100 बेड कोविड-19 अस्पताल गीदम में वेस्ट मटेरियल के निष्पादन के लिए कोई ठोस व्यवस्था नहीं की गयी है। वेस्ट मटेरियल के निष्पादन के लिये कोविड 19 अस्पताल के पीछे एक टंकी बनायी गयी थी। जो कि मरीजों के और डॉक्टरों के उपयोग की जाने वाली सामाग्रियों से पी पी ई किट, पानी की बोतले, खाने का सामान व मास्क अन्य चीजों से भर चुकी है। और अब वेस्ट मटेरियल टंकी से बाहर फैलने लगा है। जिसके कारण आसपास के लोग दहशत में है। कोविड-19 महामारी एक संक्रामक बीमारी है। और इस महामारी से निपटाने में प्रशासन द्वारा घोर लापरवाही बरती जा रही हैं। जिससे कोरोनावायरस के नगर में बस्ती में फैलने की आशंका बढ़ती जा रही हैं। वर्तमान समय में डब्ल्यूएचओ ने कोरोनावायरस के हवा से भी फैलने की पुष्टि की है। और जिस प्रकार से वेस्ट मटेरियल खुले में फेंका जा रहा है उससे यह हवा के माध्यम से आसपास व आसपास के लोगों से नगर और शहर में फैलने की आशंका जतायी जा रही है। वहां आसपास रहने वाले लोगों ने कहा कि हमने कई बार इसकी शिकायत प्रशासन से की लेकिन किसी ने भी इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया। इससे हमारे आसपास बीमारी के फैलने की आशंका बढ़ती जा रही है। हमारा यही आग्रह है कि शासन प्रशासन इस कोविड-19 से निकले वेस्ट मटेरियल का सही निष्पादन करें। जिससे यह बीमारी अन्य जगह न फैल सके। जिला पंचायत पूर्व उपाध्यक्ष मनीष सुराना ने जिया न्यूज़ से कहा कि मैंने कोविड-19 अस्पताल के बीच नगर में बनाये जाने के बारे में कलेक्टर महोदय को अवगत कराया था और उन्हें इसके दुष्परिणामों के बारे में बताया था। कि अस्पताल के नगर के बीच बना जाने से महामारी पूरे नगर में भी फैल सकती है। उन्होंने कहा कि कोविड 19 अस्पताल से निकले वेस्ट मटेरियल को खुले में फेंकने की जाने की घटना निंदनीय नहीं है। शासन प्रशासन को इस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए इस मटेरियल के लिये अलग से टंकी बनवानी चाहिये।यदि महामारी आसपास क्षेत्रों में फैलती है तो उसका पूरा जवाबदार शासन-प्रशासन ही होगा।

Related posts

Chhttisgarh

jia

जल है तो कल है लेकिन लौह नगरी किरंदुल की मुख्य सड़क में जल यूँ ही बर्बाद हो रही है ! संबंधित विभाग की लापरवाही के चलते रोजाना सैकड़ो लीटर पानी अनावश्यक बहकर बर्बाद हो रही हैं !

jia

सिलगेर मामले में ग्रामीणों से सकारात्मक चर्चा
विकास के मुद्दे पर समिति बनाने सहित अन्य कई मांगों पर बनी सहमति

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!