September 26, 2021
Uncategorized

सेवानिवृत्त पुलिसकर्मियों से ऑनलाइन ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश राजनंदगांव, दंतेवाड़ा, महासमुद्र पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा बिहार झारखंड में धमाकेदार छापामार कार्यवाही फर्जी सिम लाने, फोन करने, खातों में रकम ट्रांसफर करने से लेकर एटीएम से रकम निकालने तक का यह ठग करते थे काम पांच आरोपी सहित दो दर्जन से अधिक मोबाइल, एटीएम, लैपटॉप, कलर प्रिंटर व अन्य दस्तावेज जप्त

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा:-भगवान सिंह सलामें उम्र 60 साल निवासी अंबागढ़ चौकी के द्वारा 16 जुलाई को थाना अंबागढ़ चौकी में रिपोर्ट दर्ज कराई गई की कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा उन्हें फोन कर अपने आप को पेंशन अधिकारी बताकर बैंक खाते एवम एटीएम की संपूर्ण जानकारी लेकर खाते से 18.33 लाख रुपये धोकाधड़ी कर निकाल लिया गया। प्रार्थी की रिपोर्ट पर थाना अंबागढ़ चौकी में अपराध क्रमांक 131/ 20 धारा 420 कायम कर मामले को विवेचना में लिया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज विवेकानंद सिन्हा, पुलिस महानिरीक्षक रायपुर आनंद छाबड़ा, पुलिस महा निरीक्षक बस्तर पी सुंदर राज, पुलिस अधीक्षक राजनंदगांव जितेंद्र शुक्ला, पुलिस अधीक्षक दंतेवाड़ा अभिषेक पल्लव, पुलिस अधीक्षक महासमुंद प्रफ्फुल ठाकुर के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजनादगांव गोरखनाथ बघेल व अन्य अधिकारियों के नेतृत्व में एक विशेष टीम मामले के जल्द से जल्द खुलासे के लिए गठित की गई। विशेष टीम द्वारा कॉल द्वारा किए गए मोबाइल नंबर व प्रार्थी के खाते से ट्रांसफर किए गए संपूर्ण बैंक खातों की जानकारी प्राप्त कर बारीकी से हर बिंदु पर जांच की गई। उसी दौरान छत्तीसगढ़ के अन्य जिलों महासमुंद, दंतेवाड़ा, कांकेर, रायपुर, बिलासपुर, सरगुजा में भी इस प्रकार की ऐसी ही घटना घटित होना पता चलने पर सभी जिलों से संपर्क कर घटना की संपूर्ण जानकारी एकत्रित कर तकनीकी टीम में पुलिस स्टाफ द्वारा तत्काल विशेष टीम बिहार, झारखंड रवाना हुई। दंतेवाड़ा एवं महासमुंद की टीम भी अपने-अपने जिलों से आरोपी की तलाश हेतु बिहार झारखंड पहुंची। छत्तीसगढ़ से पहुची पुलिस टीमें स्थानीय पुलिस की मदद से बिहार झारखंड के अलग स्थानों में रेड कार्रवाई कर आरोपी को पकड़ा गया। पूछताछ करने पर पता चला कि ठगों का गिरोह पूरे भारत में इस प्रकार की ठगी की घटना को अंजाम देकर करोड़ों रुपए की ठगी कर चुका है। प्रार्थी को फोन करने, खातों की जानकारी लेने,खातों से रकम दूसरे खातों में भेजने से लेकर एटीएम से आहरण करने, सभी कामों के लिए अलग-अलग सदस्यों की अलग-अलग भूमिका निर्धारित होती है। जिनको उनके कार्य के आधार पर कमीशन दिया जाता है। विशेष टीम द्वारा आरोपी बाबर अली पिता लखीराम उम्र 30 वर्ष जिला बांका बिहार, मनोज कुमार राय पिता जनार्दन राय निवासी जिला बांका बिहार, रोहित कुमार यादव पिता भागीरोध यादव निवासी जिला बांका बिहार, पिंटू कुमार मंडल पिता छोटन मंडल निवासी बाउंसी बिहार, जितेंद्र चौधरी पिता देवेंद्र चौधरी निवासी जिला बांका बिहार को गिरफ्तार कर आरोपियों के कब्जे से 7 नग अलग-अलग कंपनियों के मोबाइल, 2 नग लैपटॉप, एक नग कलर प्रिंटर, 12 नग बैंकों के एटीएम, 2 नग इंडिया पोस्टल पेमेंट बैंक का कार्ड, दो नग जिओ कंपनी का नया सिम, 4 नग आधार कार्ड दो नग मतदाता परिचय पत्र, दो नग पैन कार्ड, सहित 3 लाख 62 हजार रुपये नगद जप्त किया गया। इस कार्यवाही में उप पुलिस अधीक्षक मयंक रणसिंह, निरीक्षक अमित पाटले, उप निरीक्षक नरेंद्र मिश्रा, उपनिरीक्षक संजय राजपूत, निरीक्षक शैलेश पांडे, सहायक उप निरीक्षक विकास शर्मा, प्रधान आरक्षक वसंतराव, जी सिरिल, मनेश ध्रुव, आरक्षक मनीष मानिकपुरी, प्रवीण मिश्रा, राकेश, आदित्य सिंह, हेमंत साहू, रविंद्र गुप्ता, जुगेश सिंग पैकरा, शुभम पांडे, वीरेंद्र नेताम आदि की सराहनीय भूमिका रही।

Related posts

महिला दिवस पर ,मृतक पांडे कवासी को न्याय दिलवाने दंतेवाड़ा के समेंली पहुचे अमित जोगी

jia

बीजापुर में वृक्षारोपण कर मनाया गया गंगा दशहरा और गायत्री जयंती पर्व

jia

कटेकल्याण बाजार के दिन का आम नज़ारा,जानवरों की तरह ठूसे इंसान

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!