July 5, 2022
Uncategorized

लोन वर्राटू योजना से प्रभावित होकर पांच इनामी माओवादियों समेत 12 माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण दो दर्जन से भी अधिक सुरक्षा कर्मियों की हत्या में थे शामिल

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा जिले में चलाये जा रहे हैं नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत दंतेवाड़ा पुलिस को आज बड़ी सफलता मिली है। पुलिस के लोन वर्राटू योजना से प्रभावित होकरव माओवाद की खोकली विचार धारा से तंग आकर शासन की पुनर्वास योजना से प्रभावित होकर मुख्य धारा से जुड़ने के उद्देश्य से व विकास में सहयोग की इच्छा व्यक्त करते हुये दंतेवाड़ा विधायक देवती महेंद्र कर्मा, अप पुलिस महानिरीक्षक केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल विनय कुमार सिंह, अधीक्षक दंतेवाड़ा डॉ अभिषेक पल्लव व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दंतेवाड़ा उदय किरण के समक्ष आत्मसमर्पण किया।लोन वर्राटू योजना से प्रभावित होकर विगत दो माह में 15 इनामी सहित 71 माओवादियों ने आत्मसमर्पण किया है।आत्मसमर्पित माओवादियों में चंदूराम सेठिया पिता लखमू राम सेठिया सदस्य प्लाटून नंबर 26, शासन द्वारा घोषित इनाम दो लाख रुपये, लखमू हेमला पिता सोमारू सदस्य आमदार एरिया कमेटी,शासन द्वारा घोषित इनाम एक लाख रुपये, सुनील ताती पिता हादो ताती, सप्लायर प्लाटून नंबर 16,शासन द्वारा घोषित इनाम एक लाख रुपये, मानू मंडावी पिता लखमू मंडावी, सप्लायर प्लॉट्यून नंबर 16,शासन द्वारा घोषित इनाम एक लाख रुपये, मैतू राम बरसा पिता बोददा बारसा, जन मिलिशिया कमांडर,शासन द्वारा घोषित इनाम एक लाख रुपये।अमित कवासी पिता कोसा कवासी मिलिशिया प्लांटून सदस्य, कवासी जोगा पिता कवासी लखमा जनमिलीशिया सदस्य, राम सिंह कड़ती पिता दोर्रा जनमिलिशिया सदस्य, आयतू राम पोटाम पिता संन्नु राम पोटॉम मिलिशिया सदस्य, अशोक मंडावी पिता सुखराम मिलीशिया सदस्य, हूंगा कश्यप पिता मुकाराम कश्यप मिलिशिया सदस्य, रमेश कुमार मरकाम पिता जोगा जनमिलिशिया सदस्य ने आज आत्मसमर्पण किया और समाज की मुख्यधारा से जुड़े। ये सभी आत्मसमर्पित माओवादी पुलिस विरोधी विभिन्न नक्सल गतिविधियों में शामिल रहे है। और दो दर्जन से भी अधिक सुरक्षा कर्मियों की हत्या में शामिल रहे है।यह सभी आत्मसमर्पित माओवादी ग्रामीणों को माओवादी संगठन में जुड़ने हेतु प्रचार प्रसार करने, मार्ग में माओवादी बैनर पोस्टर लगाकर ग्रामीणों में भय उत्पन्न करने, गश्त पर निकली पुलिस पार्टी की सूचना पटाखा फोड़ कर माओवादी लीडरो को देने, एवम राशन का सामान पहुंचाने का काम करते थे।

Related posts

गांवों में सुविधा का अभाव, बढ़ रहा कोरोना का कहरः विकास मरकाम
राज्यपाल को पत्र लिखकर बस्तर-सरगुजा संभाग में बेहतर सुविधा की मांग

jia

छेरछेरा नाचकर भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने मांगा मुख्यमंत्री से 37 महीनों का 92500 बेरोजगारी भत्ता

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!