June 14, 2021
Uncategorized

“मिशन स्वराज” के मंच पर ‘कोरोना काल में समाज और मीडिया की सकारात्मक ज़िम्मेदारी’, विषय पर हुई सार्थक वर्चुअल चर्चा – प्रकाशपुन्ज पाण्डेय

Spread the love

जिया न्यूज़:-रायपुर,

रायपुर:-समाजसेवी और राजनीतिक विश्लेषक प्रकाशपुन्ज पाण्डेय ने मीडिया के माध्यम से बताया कि रविवार 30 अगस्त 2020 को दोपहर 2 बजे ‘कोरोना काल में समाज और मीडिया की सकारात्मक ज़िम्मेदारी’, इस विषय पर एक बौद्धिक वर्चुअल चर्चा का आयोजन हुआ। इस चर्चा में देश के विभिन्न क्षेत्रों और राज्यों से वक्ताओं ने शिरकत की। इस चर्चा के आयोजन का जो प्रयोजन था वो यह था कि आज कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच समाज और मीडिया में जो कुछ भी प्रचारित व प्रसारित किया जाता है उससे कहीं न कहीं, जनता में भय व्याप्त हो गया है, भले ही वो ख़बरें सही होता हैं। लेकिन इसका दूसरा भी रूप है जिसमें कितने लोग इससे ठीक हो गए हैं और हो रहे हैं। इससे बचाव के लिए क्या क्या करना चाहिए, कैसे अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को उन्नत करना चाहिए, कैसे नियमित रूप से व्यायाम और योगासन करना चाहिए, अपने खाने में क्या-क्या शामिल करना चाहिए आदि। मीडिया को इन सभी मुद्दों पर भी ध्यान देना चाहिए। आज अगर किसी को कोरोना पॉजिटिव हो जाता है तो इसका इलाज हो रहा है, लेकिन समाज में एक अवधारणा बन चुकी है कि उस व्यक्ति और यहां तक कि उसके परिवार को समाज दुर्भावना से देखने लगते हैं। क्या ये सही है?

प्रकाशपुन्ज पाण्डेय ने बताया कि इसी विषय पर तमाम वक्ताओं ने अपने अपने पक्ष रखे। इस चर्चा में रायपुर से वरिष्ठ पत्रकार बाबूलाल शर्मा, दिल्ली से विश्व हिंदू परिषद के विनोद बंसल, रायपुर से ज्योतिष रत्न पं. प्रियशरण त्रिपाठी, अकोला, महाराष्ट्र से डॉ अहमद उरूज़, रायपुर से समाजसेवी व कांग्रेस नेता नितिन भंसाली, भाजपा नेता सोमेश चंद्र पांडेय और रायपुर से इस चर्चा और मिशन स्वराज के संचालक, राजनीतिक विश्लेषक व समाजसेवी प्रकाशपुंज पांडेय ने शामिल होकर अपना अपना पक्ष रखा। इस चर्चा के रिकॉर्डेड वीडियो को मिशन स्वराज के फेसबुक पेज पर सभी के लिए अपलोड कर दिया गया है।

प्रकाशपुन्ज पाण्डेय ने बताया कि मिशन स्वराज, बौद्धिक चर्चाओं का एक मंच है और प्रत्येक शनिवार व रविवार को समाजिक विषयों पर वर्चुअल चर्चा आयोजित की जाती है जिसमें देश भर से बुद्धिजीवियों को शामिल किया जाता है। इस चर्चा की शुरुआत 9 अगस्त 2020 को कई गई थी। ये न ही कोई राजनीतिक मंच है और न ही कोई मीडिया प्लेटफॉर्म, न ही इसका कोई आर्थिक लाभ का उद्देश्य है।

Related posts

Chhttisgarh

jia

हीरानार मे एकत्र हुए चार गाँव के ग्रामीण कहा किसी भी कीमत पर नहीं लगने देंगे प्लांट

jia

छत्तीसगढ़ में आर्थिक आपातकाल लगाने हेतु,जोगी कांग्रेस ने राष्ट्रपति के नाम सौपा ज्ञापन-नवनीत

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!