August 8, 2022
Uncategorized

शासकीय शराब दुकान में कोरोना टैक्स की आड़ में प्रिंट रेट से अधिक दाम पर शराब बेचने का चल रहा गोरखधंधा पीओ लेकिन रख्खो हिसाब……….

Spread the love

जिया न्यूज़:-सुभाष यादव-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा- 3 मई को भारत मे लॉकडाउन का दूसरा चरण खत्म हुआ, और इसके बाद 4 मई से इसके तीसरे चरण की शुरुआत के पहले दिन शराब की दुकानों में शराब खरीदने वालों की लम्बी कतारे लग गई। राज्य सरकार ने
लॉकडाउन के बाद खुली शराब दुकानों में भारी भीड़ के बाद बाकि राज्यो की तरह यहाँ भी शराब पर कोरोना टैक्स लगाने का फैसला लिया। सरकार ने विदेशी शराब पर 10% कोरोना टैक्स लगाने का फैसला लिया। और देशी शराब पर भी 10% कोरोना टैक्स वृद्धि करने का फैसला किया।

आपको बताना लाजमी है, जिले में सरकारी शराब दुकानों का संचालन आबकारी विभाग की देख-रख में किया जा रहा है। जिसका समय-समय पर निरीक्षण विभाग के अधिकारी , उड़नदस्ता की टीम करती है। इसके बावजूद भी शराब दुकान के कर्मचारियों द्वारा कोरोना टैक्स की आड़ में प्रिंट रेट से अधिक दर पर शराब की खुलेआम बिक्री की जा रही है।

कोवड-19 महामारी के इस दौर में अंग्रेजी शराब महंगी होने पर शराब शौकीनो की जेब ढ़ीली हो रही है। और यह देखने को मिल रहा है, कि दुकान के कर्मचारियों द्वारा शराब अधिक मूल्य पर बेचने से क्षेत्र के मदिरा प्रेमी नाराज है।

दंतेवाड़ा में टेकनार रोड के इंडस्ट्रीयल एरिया में स्थित विदेशी, देशी शराब दुकान से शिकायत आ रही है। दुकान के कर्मचारियों द्वारा ओवर रेट में शराब बेचने की खबर है। इस दुकान से शराब लेने वालों ने बताया कि 120 रुपये का पौवा 132 रुपये होगा कोरोना टैक्स 10% काटकर मगर 160 रुपये में बेचा जा रहा है। और 140 रुपये का प्लेन अद्धा कोरोना टैक्स 10% काटकर 154 रुपये होता है। 180 रुपये में बेचा जा रहा है। लोगों ने बताया कि शराब दुकान में मांगे जाने पर भी बिल नही दिया जाता है।

नगर के सत्यानंद इन्होंने बताया कि 180 रुपये का पौवा 220 रुपये लिए इन्होंने पूछा प्रिंट रेट से ज्यादा है। दुकान के सेल्समैन झगडा करने लगे बिल मांगा तो कहा पेपर खत्म हो गया है। लोगों का जिला प्रशासन से आग्रह है कि आबकारी एक्ट 34(2) धारा 35 के तहत कर्मचारियों, सुपरवाईजर, सैल्समेंन पर कार्यवाही हो यह धारा गैर जमानती है। इसमे 03 वर्ष की सजा प्रावधान है।

वर्जन
इस सम्बन्ध में विभाग के अधिकारी से फोन पर सम्पर्क करने की कोशिश की गई उनका फोन स्विचऑफ बता रहा था।
जिला आबकारी अधिकारी दंतेवाड़ा
नवनीत तिवारी

Related posts

“कोरोना महामारी से बचाव एवं सुरक्षा हेतु 3 जनवरी को नगरी विकासखण्ड के 15 से 18 वर्ष आयु के बच्चों ने निर्भीकता एवं उत्साह पूर्वक लगवाया ‘कोवेक्सीन टीका”

jia

जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिला मिशन समन्वयक द्वारा किया शालाओं का निरीक्षण

jia

सी.एम.एच.ओ. डॉ० राजन द्वारा बी.एम.ओ. बस्तानार को हटाने के बाद अब नेत्र विभाग के नोडल अधिकारी को हटाने का तुगलकी फरमान कर्मचारी हुए एकत्रित।

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!