June 25, 2021
Uncategorized

वन परिक्षेत्र अधिकारी गीदम पहुंचे कोरलापाल गांव मामले की लीपापोती में जुटा वन परिक्षेत्र कार्यालय का अमला अंदरूनी ग्रामीण इलाकों में लगे ट्री गॉर्ड दिखा रहे हकीकत ग्रामीणों पर डाला जा रहा दबाव

Spread the love

जिया न्यूज़:-दिनेश गुप्ता-दंतेवाड़ा/गीदम,

गीदम:-ट्री गार्ड मामले में कल की खबर के बाद वन परिक्षेत्र गीदम का अमला कोरलापाल गांव पहुंचा। और ट्री गार्ड व अन्य मामले पर ग्रामीणों के ऊपर दबाव डाला जा रहा है। और वन विभाग का अमला पूरे मामले की लीपा पोती में जुट गया है। जबकि ट्री गार्ड निर्माण में अनियमितता की शिकायत लगातार सामने आ रही है। और अंदरूनी ग्रामीण इलाकों में ट्री गार्ड का निर्माण किस प्रकार हुआ है और किस प्रकार के टी गार्ड मौके पर लगे हैं। इसकी हकीकत किसी से छुपी नहीं है फिर भी जवाबदेह प्रशासनिक अधिकारी इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं कर रहे हैं। यह बात समझ से परे है। अंदरूनी ग्रामीण इलाकों में वन परिक्षेत्र अधिकारी गीदम के द्वारा जंगल की लकड़ी को काट कर किस प्रकार ट्री गार्ड का निर्माण करवाया गया है। ये मौके पर लगे ट्री गॉर्ड खुद स्थिति बया कर रहें है। वन विभाग जो खुद जंगल की रक्षा के लिए बना है वह खुद ही ट्री गार्ड निर्माण के लिए जंगल के पेड़ों की बलि चढ़ाने में जुटा हुआ है। और जंगल के पौधों को काटकर उनका अंदरूनी इलाकों में ट्री गॉर्ड बना कर लगाया गया है। जिसका वीडियो भी खबर के साथ शेयर किया जा चुका है। इन सभी तथ्यों के सामने आने के बाद भी गीदम परिक्षेत्र अधिकारी इस मामले की लीपापोती करने के लिये ग्रामीणों पर लगातार दबाव बना रहे हैं। और उन्हें अपना बयान बदलने के लिए कहा जा रहा है। जबकि ग्रामीणों के कहना यह है कि जो ट्री गार्ड लगाये गये है वो पूरी तरह से गलत तरीके से बने है। इन्हें बांस से बनाया जाना था लेकिन इन्हें जंगल के पेड़ों को काटकर ही बनाया गया है। और जिसमें बांस के एक साइड 13 – 13 बत्ते लगे होने थे वहां चार पांच बत्ते लगाकर काम चलाया जा रहा है। और हमारी मांग है कि इस फर्जी ट्री गार्ड की जगह शासन प्रशासन द्वारा स्वीकृति तरीके से बनाये गये ट्री गॉर्ड लगाये जाये। कलेक्टर महोदय द्वारा एक तरफ मारजुम ग्राम के ग्रामीणों व वन प्रबंधन समिति व स्व सहायता समूह के द्वारा द्वारा शासन द्वारा स्वीकृत तरीके से ट्री गार्डों का निर्माण करवाया जा रहा है वहीं गीदम परीक्षेत्र अधिकारी के द्वारा अनियमित और गलत तरीके से बनाये गये ट्री गार्ड लगाये गये हैं।और जब इसकी शिकायत जब ग्रामीणों ने कलेक्टर व उच्च अधिकारी से शिकायत की तो गीदम परिक्षेत्र अधिकारी अब ग्रामीणों पर दबाव बना रहे हैं। और मामले की लीपापोती करने के लिए स्वयं गांव तक पहुंच चुके हैं। अब देखने वाली बात है कि उच्च अधिकारी इस मामले पर क्या कार्यवाही करते है।

Related posts

मलेरिया के रोकथाम और बचाव के लिए प्रचार रथ को किया गया रवाना,मलेरिया मुक्त बस्तर का संदेश दिया जाएगा स्थानीय बोली में

jia

Chhttisgarh

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!