July 1, 2022
Uncategorized

जिले से नीट की परीक्षा में सम्मिलित होने 259 परीक्षार्थियों को बस से किया गया रवाना कलेक्टर दीपक सोनी ने परीक्षा में अच्छे प्रदर्शन के लिए दी शुभकामनाएं

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा:-राज्य शासन के निर्देशानुसार जिला प्रशासन दंतेवाड़ा के द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित की गई नीट की परीक्षा के लिए जिले के 259 परीक्षार्थियों के लिए निःशुल्क बस वाहन की व्यवस्था की गई। जिसे आज कलेक्टर दीपक सोनी, अपर कलेक्टर अभिषेक अग्रवाल एवं जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कर्मा की उपस्थिति में संयुक्त जिला कार्यालय परिसर से परीक्षा केन्द्रों के लिए रवाना किया गया। इस दौरान कलेक्टर दीपक सोनी ने नीट की परीक्षाओं में सम्मिलित होने जा रहे जिले के छात्र व छात्राओं से वार्ता की और परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन के लिए शुभकामनाएं दी। बच्चों के रवाना होने से पूर्व उन्हें मीठी दही भी खाने को दी गयी।
गौरतलब है कि कोरोना वैश्विक महामारी के कारण जहां सुरक्षित आवागमन की सुविधा उपलब्ध नहीं हो पा रही हैं। साथ ही राष्ट्रीय स्तर की परीक्षाओं की घोषणा करने के बाद छात्र व छात्राओं के समक्ष परीक्षा केन्द्रों तक पहुंचने की समस्या उत्पन्न हो गई थी। जिसे प्रदेश के मुखिया भुपेश बघेल के द्वारा जिला प्रशासन के माध्यम से निःशुल्क वाहन व्यवस्था करते हुए आईआईटी जेईई एवं नीट की परीक्षाओं के छात्र व छात्राओं को परीक्षा केन्द्र तक लाने एवं वापस घर पहुंचाने की घोषणा की गई। जिसके परिपालन में जिला प्रशासन के द्वारा बसों के माध्यम से छात्र-छात्राओं को सुरक्षित परीक्षा केन्द्र तक लाने व घर वापस पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार आज नीट की परीक्षा हेतु दुर्ग, रायपुर, बिलासपुर के परीक्षा केन्द्रों के लिए जिले से 259 छात्र व छात्राओं को रवाना किया गया है, जिसमें छात्रों के अलग एवं छात्राओं के लिए अलग बसों की व्यवस्था दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा जिला प्रशासन के द्वारा की गई है। इसके साथ ही सम्मिलित हो रही छात्राओं के साथ एक अभिवावक को भी निःशुल्क ले जाने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। यात्रा में पानी व भोजन की व्यवस्था कलेक्टर के निर्देश पर की गई है, तथा मास्क और सेनिटाईजर कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध किये गये हैं। कलेक्टर दीपक सोनी के द्वारा छात्र व छात्राओं को परीक्षा केन्द्र तक ले जाने एवं वापस लाने के लिए प्रत्येक बसों में नोडल अधिकारियों को जिम्मेदारी दी है, जिसमें शिक्षा विभाग के अधिकारी, कर्मचारी के साथ अन्य जिम्मेदार अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। सभी बसों को उपयोग में लाने से पूर्व सेनिटाईज किया गया है।

Related posts

किसानों का नहीं उठ रहा धान का दाना, कम पड़ रहा है धान खरीदी केन्द्रों में बारदाना–मुक्तिमोर्चा

jia

सीआरपीएफ 231वी बटालियन ने मनाया 82वा स्थापना दिवस समारोह कोविड-19 को देखते हुए सोशल डिस्टेंस का पालन किया गया

jia

किसान की बेटी पार्वती बनेगी डाॅक्टर
कांकेर शासकीय मेडिकल काॅलेज में हुआ चयन
युवोदय एकेडमी से मिले निःशुल्क मार्गदर्शन से नीट क्लियर करने में मिली सहायता

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!