February 22, 2024
Uncategorized

बस्तर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी.की पहल माओवादियों के विरुद्ध प्रति प्रचार युद्ध का किया शंख नाद

Spread the love

जिया न्यूज़:-बब्बी शर्मा-कोंडागांव,

कोंडागांव:-माओवादियों की विकास विरोधी एवं आदिवासी विराधी गतिविधियों को उजागर करने के लिए बस्तर पुलिस ने छेड़ा प्रति प्रचार युद्ध जिसमें गोंडी, हल्बी एवं स्थानीय भाषाओं के माध्यम से माओवादियों की काली करतूतों को करेगा उजागर किया जायेगा बस्तर त माटा एवं बस्तर चो आवाज के नाम से प्रारंभ किये जा रहे इस जागरूकता अभियान के माध्यम से शीर्ष माओवादियों नेताओं की विकास विरोधी एवं आदिवासी विरोधी मानसिकता को बेनकाब किया जायेगा।
छत्तीसगढ़ राज्य गठन के पश्चात् जनसहयोग से नक्सल आतंक को समाप्त करना बस्तर पुलिस की सर्वोच प्राथमिकता रही है। कुछ महिनों से बस्तर में स्थानीय पुलिस बल एवं केन्द्रीय सुरक्षाबलों द्वारा माओवादियों के आतंक के विरूद्ध यह लड़ाई निर्णायक मोड़ पर पहुंच गई है। शासन की माओवादियों के हिंसा के विरूद्ध ‘‘विश्वास-विकास-सुरक्षा’’ के त्रिवेणी कार्ययोजना की सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहा है।

पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज सुंदरराज पी. का मानना है कि नक्सली के विरूद्ध अंदरूनी क्षेत्र में की जा रही प्रभावी नक्सल विरोधी अभियान के साथ-साथ माओवादियों की विकास विरोधी एवं जनविरोधी चेहरा को उजागर करना अत्यंत आवश्यक है। इसी उद्देश्य से माओवादियों के विरूद्ध प्रति प्रचार युद्ध की जारी है।
बैनर, पोस्टर, लघु चलचित्र, ऑडियों क्लिप, नाच-गाना, गीत-संगीत एवं अन्य प्रचार प्रसार के माध्यम से माओवादियों की काला कारनामों को उजागर किया जायेगा। स्थानीय गोंडी भाषा ‘‘बस्तर त माटा’’ एवं हल्बी भाषा में ‘‘बस्तर चो आवाज’’ के नाम से प्रारंभ की जा रही इस अभियान के माध्यम बस्तरवासियों विशेष कर जंगलों में रहनेवाले आदिवासियों के विचारों को बाहर की दुनिया तक पहुंचाया जाएगा।
पुलिस महानिरीक्षक, पी.सुन्दरराज बस्तर रेंज ने कहा कि इस अभियान के माध्यम से स्थानीय नक्सलीयों, मिलिशिया कैडर्स एवं नक्सल सहयोगियों को हिंसा त्याग कर समाज की मुख्यधारा में शामिल होने के लिए आत्मसमर्पण हेतु प्रेरित करेगें।

Related posts

देश में बढ़ती महंगाई के विरोध में कांग्रेस ने किया चक्काजाम
विधायक विक्रम मंडावी की भाजपा को चुनौती पंद्रह साल बनाम ढाई साल पर बहस करे भाजपा

jia

अवैध रेत खनन परिवहन के विरुद्ध पत्रकारों का अनिश्चितकालीन धरना
कार्यवाही नही होने से रुष्ट पत्रकार बैठे धरने पर

jia

टीकाकरण हेतु उपयुक्त पॉलिसी और प्रबंधन बनाने में भूपेश सरकार नाकाम जिसका खामियाज़ा भुगत रही प्रदेश की जनता -तरुणा साबे बेदरकर

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!