June 25, 2021
Uncategorized

भूमगादी संस्था का औचित्य समझ से परे कृषि विभाग को संस्था के कार्यों की कोई जानकारी नही समझ से परे यह भी है कि मैदानी अमले द्वारा किये गए कार्यो को आखिर बताने में हिचक कैसी?

Spread the love

जिया न्यूज़:-सुभाष यादव-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा – जिले का भूमगादी संस्था के क्रियाकलापों की जानकारी ना तो जिले के किसानों को है, ना ही कृषि विभाग को है, और ना मीडिया को है। ग़ैर सरकारी संगठनों के द्वारा जिले को चारागाह मान कर करोड़ों के वारे-न्यारे से जिला आहत रहा है। सरकार और जनता के बीच इस प्रकार की अनेक संस्थाएं कागजो तक ही सीमित रही है। उनमें से एक यह भूमगादी संस्था है, इनके द्वारा किये गए कार्य खुद संस्था को ही नही पता है। कटेकल्याण के ब्लॉक कॉर्डिनेटर रामेश्वर यादव अपने टीम के 10 अन्य कर्मचारियों के साथ लगभग 08 ग्रामो को जैविक खेती की धारा से जोड़ने क्षेत्र में कार्यरत है। खनिज न्यास निधि से इन कर्मियों को वेतन दिया जाता है। यादव से कार्यों की प्रगति के बारे में पूछे जाने पर अपने वरिष्ठों का हवाला दे कर जानकारी देने से इंकार कर दिया।

समझ से परे यह भी है कि मैदानी अमले द्वारा किये गए कार्यो को आखिर बताने में हिचक कैसी? साथ मे यह भी की कृषि विभाग को इस विषय में कोई जानकारी नहीं है। हैरत की बात तो यह है, इनके कार्य क्षेत्र में इनकी गतिविधियों के बारे में किसान भी अनजान है। अब किसे क्या समझना है यह खुद के विवेक पर निर्भर है।

Related posts

वर्चुअल योगाभ्यास में शामिल होने बस्तर जिले में 58 हजार 832 लोगों ने कराया पंजीयन

jia

Chhttisgarh

jia

छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य मंत्री से मांग बस्तर में MRI स्केन मशीन DMF या राज्य फंड से की जाए उपलब्ध-मुक्तिमोर्चा बस्तर वाशि,निजी संस्थान पर ज्यादा दर पर MRI करवाने हेत मजबूर-मुक्तिमोर्चा बस्तर हित पर मांग,सरकार की पहल नहीं हुआ तो मुक्तिमोर्चा आंदोलन हेतु मजबूर-भरत

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!