October 21, 2021
Uncategorized

छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ जिला इकाई दंतेवाड़ा द्वारा जिले में निकाली गई अभूतपूर्व मशाल रैली!

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा:-एक ओर जहां प्रदेश सरकार अपने 36 मे से 24 वायदा पूरा करने का दावा कर रही है, वही उन 36 वायदे जो जन घोषणा पत्र के अंतर्गत उल्लेखित हुए थे में बिंदु क्रमांक 11 और 30, “सभी अनियमित कर्मी किये जायेंगे नियमित” तथा ” आउटसोर्सिंग प्रथा बन्द होगी, छटनी नही किया जावेगा” को सरकार बनते ही 10 दिनों के भीतर पूरा किया जाएगा। पर आज सरकार बने 934 दिन बीत चुके है, प्रदेश के एक लाख 80 हज़ार अनियमित कर्मी 10 दिनों के इंतज़ार करते बैठे हुए थे।
कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष श्री सूरज सिंह ठाकुर ने कहा कि शोषित पीड़ित अनियमित कर्मचारियों का वर्ग 10 दिन में पूरे किए जाने वाले नियमितीकरण के वायदे का इंतज़ार पिछले 934 दिन से कर रहा है। कोरोना काल मे जहां अन्य राज्यो में अनियमित कर्मियों के लिए अनेक सरकारों ने योजनाएं लागू किया और सामाजिक तथा आर्थिक मदद पहुंचाया, वही प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने लाखों अनियमित कर्मियों को उनके हाल में जीने मरने के लिए छोड़ दिया है। इससे अनियमित कर्मियों में काफी रोष उत्तपन्न हो चुका है, और आंदोलन के विकल्प की ओर बढ़ चला है। इसी तारतम्य में जिला दंतेवाड़ा में मशाल रैली निकाल कर मुख्यमंत्री के नाम नियमितीकरण जल्द किये जाने का ज्ञापन प्रशासन को सौंपा गया।
जिलों में 19 सम्बद्धता प्राप्त संगठनों के सैकड़ो अनियमित कर्मचारी सम्मिलित हुए । 934 दिन अनियमित कर्मियों ने शांतिपूर्ण तरीके से इंतज़ार किया, महासंघ ने भी यही प्रयास किया कि उसके आम अनियमित सदस्य धैर्यवान रहते हुए नियमितीकरण की घोषणा का इंतज़ार करें, परंतु सरकार द्वारा कोई भी सकारात्मक पहल ना किये जाने के कारण आम सदस्य अब सड़क से सदन तक लड़ने के लिए उतरने के लिए बाध्य कर रहे है। अभी भी सरकार को समय रहते चेत जाना चाहिए और अपने किये गए वायदे को पूरा करना चाहिए। आज आयोजन में आप पार्टी के जिला अध्यक्ष बस्तर जिला तरुणा बादे एवं उनके कार्यकर्ताओ ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया है। अनियमित कर्मचारियों की मांगें पूरी ना होने की स्थिति में और उग्रता के साथ प्रदर्शन किया जाएगा। महासंघ एक संगठन है और संगठन का जो उत्तरदायित्व अपने आम सदस्यों के प्रति होता है, उसका पूरी तरह से निर्वहन किया जाएगा और यदि प्रदेश सरकार हमसे आंदोलन ही करवाना चाहती है, तो अब उससे महासंघ बिल्कुल पीछे नही हटेगा। सरकार का अपने नियमितीकरण वायदे के प्रति उदासीन रवैया, आगामी भविष्य में प्रदेश में बड़े आंदोलनों को बुलावा दे रही है, 11 जुलाई को सरकार बनने के 935 दिन बाद जिला दंतेवाड़ा में अभूतपूर्व मशाल रैली कोविड 19 के गाइड लाइन का पालन करते हुए शांतिपूर्ण तरीके से निकाली गयी और सरकार जागृत करते हुए नियमितिकरण के वायदे को पूर्ण करवाने का प्रयास किया गया.। जिला मुख्यालय में व्यापक रूप से अपने संगठनों के आम सदस्यों के साथ महासंघ के 7 चरणों के आंदोलन के प्रथम चरण मशाल रैली निकाल कर शंख नाद कर दिया है। इसके बावजूद भी यदि सरकार अब नही जागती है और सकारत्मक कदम नही उठाती है तो अगले 6 चरणों मे महासंघ और उग्रता के साथ आंदोलन करेगा। उक्त मशाल रैली में कु. श्वेता सोनी, भूपेंद्र साहू, मनीष साहू, दिनेश करातिया, मुकेश अहिरवार, अमित गुप्ता, किरण बाजपई उपस्थित रहे।

Related posts

महिला सरपंच हारम और जनपद अध्यक्ष का अपमान,मचा बवाल
गूंजे भूपेश सरकार के मुर्दाबाद के नारे

jia

Chhttisgarh

jia

घटनास्थल से पुलिस को मिला बुलेट का खोखा
सीसीटीवी में मिले कुछ संदेहियों के सुराग

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!