September 17, 2021
Uncategorized

कुपोषण से लडने का जुनून है सवार आंगनबाड़ी
कार्यकर्ता रजबती बघेल पर. पिछले ग्यारह वर्षों से कर रही है कुपोषित बच्चों की सेवा

Spread the love

जिया न्यूज़:-बब्बी शर्मा-कोंडागांव,

कोंडागांव:-कुपोषित बच्चों को सुपोषित करने जिले में नगद पीला योजना संचालित है ,जिस में जिले के आंगनबाड़ी केंद्रों के कार्यकर्ताओं द्वारा बच्चों का वजन ले कुपोषित बच्चों की पहचान कर उन्हें पोषण आहार प्रदान किया जा रहा वहीं मध्यम व अति कुपोषित बच्चों को सप्ताह में 3 दिन अंण्डे खिलाने की योजना है।
माआओवाद की गिरफ्त वाले क्षेत्र मेंकार्यरत,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को कुपोषण दूर करने का ऐसा जुनून सवार है कि अंडे कि ट्रे सिर पर लेकर 24 किलोमीटर पैदल चलकर गांव तक पहुंच रही है।
ग्राम कडेनार के चिकपाल पारा में वर्ष 2009 में आंगनबाड़ी केंद्र की स्थापना के बाद नक्सल दहशत को दरकिनार कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के रूप में पदस्थ श्रीमती रजबती बघेल अपनी सेवायें दे रही हैं, आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से अति व मध्यम कुपोषित बच्चों को पोषक आहार के साथ अंडे भी वितरित किये जा रहे हैं,रजबती ने बताया कि वर्तमान में कडेनार के चिकपाल आंगनबाड़ी केंद्र में कुल 30 बच्चे हैं जिनमें सामान्य श्रेणी में 23 व मध्यम कुपोषित श्रेणी में 7बच्चे हैं.इन 7बच्चों को सप्ताह में 3 दिन अण्डा खिलाया जाता है।
पहुंच मार्ग के अभाव में कड़ेनार से अन्य पारे टोलों में पहुचने के लिए दुर्गम जंगलों व पहाड़ों के बीच नदी नाले से होकर गुजरने वाले रास्तों से होकर सायकिल पर अण्डे लेकर जाने से फूटने की संम्भावना बनी रहती है। इसलिए मर्दापाल से लगभग 24 किलोमीटर दूर कडेनार तक सिर में ढोकर अण्डे पहुंचा कर अपने कर अपने कर्तव्य को अन्जाम दे रही हैं।

Related posts

भिलाई के अंकित ने की कोरोना काल में शेयर मार्केट से दमदार कमाई, तोड़ दिए सारे रिकॉर्ड! क्या ये हैं अगले वैरेन बफे?

jia

Chhttisgarh

jia

कोरोना कॉल में अतिक्रमण के नाम पर वर्षों से बसे आशियानो को उजाड़ने का सरकारी फरमान अनैतिक कृत्य-मुक्तिमोर्चा

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!