September 23, 2021
Uncategorized

6 साल के उम्र में नन्हें रोजेदार सकलैन हाशमी ने रखे 10 रोजे ,बड़े -बुजुर्गों के लिए पेश की मिशाल,लोग कर रहे हौसले को सलाम

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा/किरंदुल,

किरंदुल:-रमजान उल मुबारक का महीना रहमतों बरकतों का महीना है इस महीने में अल्लाह तबारक व ताला अपने बंदों पर खास रहमो करम अता करता है रमजान मुबारक के महीने में 30 रोजे रखे जाते हैं मुस्लिम समुदाय मे समस्त बड़े बुजुर्ग पर रोजा फर्ज है बता दें इस चिलचिलाती धूप गर्मी और भूख प्यास को दरकिनार करते हुए 6 वर्ष के सकलैन हाशमी ने दस रोजे रखकर मिसाल कायम की है नन्हे रोजेदार सैयद आले सकलेन हाशमी ने सबसे पहले रमजान शरीफ का दूसरा रोजा रखा इसके बाद उन्होंने आठवें रमजान से लेकर आज तक लगातार रोजे रख रहे हैं उन्होंने बताया कि मैं इस रमजान उल मुबारक में रोजे रखकर पाक परवरदिगार से रोजे के बदले दुनिया में जो कोरोना महामारी फैली हुई है उस महामारी के मुक्ति के लिए दुआ करता हूं सकलैन हाशमी ने बताया अल्लाह तबारक व ताला सेहरी व इफ्तार के वक्त रोजेदार की दुआ कुबूल करता है और मेरी दुआ सिर्फ यही इस मुल्क से कोरोना जैसी महामारी खत्म हो और सभी स्वस्थ रहे सभी कर रहे हैं इस नन्हे रोजेदार की सराहना बड़े बुजुर्ग व युवाओं बच्चों को मिल रही है इनसे सीख
इस तरह के हौसले समाज व देश दोनों के लिए अच्छा संकेत है।

Related posts

लाॅक डाऊन के आदेश का पालन न करने वालों पर जगदलपुर पुलिस की कार्यवाही
भारतीय दण्ड संहिता एवं मोटर यान अधिनियम एवं शासन के निर्देशानुसार कार्यवाही

jia

एशिया स्तर की सम्मान राशि को सोनी सोढ़ी ने किया समाज को समर्पित

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!