October 18, 2021
Uncategorized

बस्तर दशहरा , बेल जात्रा विधान संपन्न, फूल रथ की हुई अंतिम परिक्रमा

Spread the love

जिया न्यूज:-जगदलपुर,

जगदलपुर:-बस्तर दशहरा अंतर्गत मंगलवार को बेल जात्रा विधान संपन्न हुआ। शाम को फुल रस की अंतिम परिक्रमा पूर्ण हुई । इसमें राज परिवार के कमल चंद्र भंजदेव अपने लश्कर के साथ नगर सीमा से लगे ग्राम सरगीपाल पहुंचते हैं, जहां एक बेल का पेड़ है यहां पर प्रतिवर्ष जोड़ा बेल ही फलता है। इस जोड़ा बेल को पारंपरिक रूप से विधि विधान के साथ अनुष्ठान कर मां दंतेश्वरी के मंदिर लाया जाता है । नवरात्र षष्ठी के दिन जोड़ा बेल को न्योता दिया जाता है ,और सप्तमी के दिन बेल जात्रा विधान के तहत जोड़ा बेल को परंपरा के अनुसार पूजा करके जगदलपुर माँ दंतेश्वरी के मंदिर लाया जाता है । मंगलवार दोपहर को सरगीपाल ग्राम के ग्रामीणों ने राजपरिवार के कमल चंद्र भंजदेव और दशहरा समिति के अध्यक्ष बस्तर के सांसद दीपक बैज के साथ अन्य जनप्रतिनिधियों का आत्मीय स्वागत किया । जोड़ा बेल पूजा विधान दंतेश्वरी मंदिर के मुख्य पुजारी कृष्ण कुमार पाढ़ी के द्वारा संपन्न कराया गया। बस्तर की परंपरा के अनुसार वैवाहिक विधान के तहत जिस तरह से हल्दी खेलते हैं उसी तरह से हल्दी भी खेली गई। ग्रामीणों ने बेटी की तरह जोड़ा बेल को विदा किया। जोड़ा बेल को लेकर राजपरिवार के कमल चंद्र भंजदेव बाजे गाजे के साथ मां दंतेश्वरी मंदिर पहुंचे। इस अवसर पर जगह-जगह चौक चौराहों पर जमकर आतिशबाजी भी की गई। सरगीपाल एवं आसपास के ग्रामीण काफी संख्या में बेल जात्रा विधान में सम्मिलित हुए । दशहरा समिति के अध्यक्ष और बस्तर सांसद दीपक बैज ने तहसील कार्यालय में स्थित दशहरा कोठी का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने पूजा और अन्य आवश्यक सामग्रियों की खरीदी की और उसके रखरखाव के संबंध में जानकारी भी ली । इस दौरान राजस्व निरीक्षक सतीश मिश्रा ने प्रभारी अधिकारी की जानकारी देते हुए व्यवस्था के संबंध में उन्हें बताया।

Related posts

जिला अस्पताल के कैंटीन संचालन में अव्यवस्था, परिजन खासे नाराज

jia

Chhttisgarh

jia

सहायता के नाम पर छलावा सरकार के दिवालियेपन का प्रमाण-ओजस्वी भीमा मंडावी

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!