December 4, 2021
Uncategorized

सड़क नवनिर्माण व दोषियों पर कार्यवाही से कम ,कुछ भी बर्दाश्त नही करेगा बस्तर,25 को मुख्यमंत्री करेगे बस्तर हित मे सवाल?दोषियों पर कार्यवाही कर ,बस्तर से न्याय कब-मुक्तिमोर्चा

Spread the love

जिया न्यूज़:-जगदलपुर,

बस्तर अधिकार मुक्तिमोर्चा ने लोक निर्माण मुख्य अभियंता को ज्ञापन सौप मारेंगा बाईपास सड़क निर्माण भ्र्ष्टाचार पर कार्यवाही व नवनिर्माण की रखी मांग-नवनीत

ध्यानाकर्षण ज्ञापन में 2011 में NMDCनिधि के 36 करोड़ से बनी 19kM की सड़क निर्माण पर जांच पश्चात भ्र्ष्टाचार की पुष्टि के बाद भी अब तक कोई कार्यवाही नहीं क्यों? जांच रिपोर्ट हो सार्वजनिक-मुक्तिमोर्चा

जगदलपुर:-बस्तर अधिकार मुक्तिमोर्चा के सयोंजक नवनीत चाँद के नेतृत्व में मुक्तिमोर्चा के दल ने आज लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता को ज्ञापन स्वरूप मांग पत्र सौप, मारेंगा बाई पास सड़क निर्माण में हुए विभागीय जांच के दौरान भ्र्ष्टाचार उजागर होने के वह जांच एजेंशियो द्वारा भ्र्ष्टाचार में लिप्त दोषी अधिकारी ,कर्मचारियों व ठकेदार के खिलाफ़ कार्यवाही व राशि रिकबरी की अनुशंसा करने के बाद भी विभाग द्वारा दोषियो पर कार्यवाही के बजाए,विभाग द्वारा समय समय पर आंदोलन के डर से सड़क नवनिर्माण की बजाए सड़क मरम्मत कार्य करवाया जाना ,बस्तर विकास निधि की राशि के बंदरबाट करने हेतु बाहरी ठेकेदारो को खुला निमंत्रण देने जैसी शर्मनाक घटना है। बस्तर के विकास के अधिकारों के साथ अन्याय करने जैसा है।मुक्तिमोर्चा के सयोंजक ने ज्ञापन पत्र की मांग का जिक्र करते हुए कहा कि सन 2011 में NMDC के बस्तर विकास निधि के तहत 36 करोड़ रुपए बस्तर जिला निर्माण समिति के माद्यम से लोक निर्माण विभाग को कार्य एजेंशी बना दिया गया। जिस पर NH16कोNH30 बस्तर जिले से जोड़ने हेतु यातयात के दबाद को शहर में कम करने के उद्देश्य से 19 KM सड़क निर्माण ग्राम पंचायत मारेंगा से ग्राम पंचायत आड़ावाल तक किया गया। सड़क निर्माण के खत्म होते ही पहली बारिश में 17KM की पूरी सड़क बह गई ,गई संघटनो व जनप्रतिनिधियों द्वारा सड़क निर्माण पर किये गये भ्र्ष्टाचार पर कार्यवाही की मांग की गई,वही विधानसभा में कई प्रश्न व ध्यानआकर्षण लगाया गया था। जिस पर प्रदेशिक विभागीय तकनीकी जांच कमेटी बनी व जांच पर 17kM की सड़क विभागीय मापदंड में फेल बताई गई है। वही उस समय के ई ई एसडीओ, सब इंजीयर व ठेकेदार को दोषी ठहरा कार्यवाही की अनुशंसा की गई ,पर अफ़सोस यह है। कि राज्य सरकार व विभाग द्वारा दोषियों पर कार्यवाही करने व नवनिर्माण करने की बजाए समय समय सिर्फ सड़क का मरम्मत किया जा रहा है। जो बस्तर के विकास की शर्त के साथ समझौता है। जो बस्तर का निवाशी क़भी बर्दास्त नही करेगा। बस्तर अधिकार मुक्तिमोर्चा के द्वारा सम्पूर्ण मामले को बस्तर विरोधी भ्र्ष्टाचार कृत्य बता राज्य के मुख्यमंत्री से कार्यवाही की मांग रख न्याय की गुहार कर नवनिर्माण कब तक सवाल करेगा।बस्तर हित की मांग पूरी नहीं किये जाने पर सम्पूर्ण दस्तावेज को माननीय उच्चन्यायल के समकक्ष रख बस्तर वाशियो के लिए न्याय मांगा जाएगा। ज्ञापन कार्यक्रम में मुक्तिमोर्चा के शहर सयोजक शोभा गंगोत्री, उपाध्यक्ष शलेन्द्र वर्मा,महासचिव सुनीता दास, कोषाध्यक्ष अंकिता गरुदत्ता व नानगुर ब्लाक अध्यक्ष विकास मांझी उपस्थित थे।

Related posts

बृहस्पत सिंह आदिवासियों से माफ़ी मांगे – अभाविप
कांग्रेसी विधायक के शब्द कांग्रेसी मानसिकता को दर्शाते हैं

jia

Chhttisgarh

jia

माओवादियों ने विज्ञप्ति जारी कर कहा-ठेकेदार पर हमला हम पर आरोप

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!