Uncategorized

भाजपा जिलाध्यक्ष अटामी ने शिक्षा विभाग की फर्जी निविदा को निरस्त करने की मांग की
शिक्षा विभाग ने कांग्रेसियों को लाभ पहुंचाने, गलत तरीके से करोड़ों की निविदा जारी की

Spread the love

जिया न्यूज़:-दन्तेवाड़ा,

दन्तेवाड़ा:-भाजपा जिलाध्यक्ष चैतराम अटामी ने जिला कलेक्टर दीपक सोनी को आवेदन लिखकर जिला शिक्षा विभाग द्वारा नियम विरुद्ध जारी निविदा को निरस्त करने की मांग की है। अटामी ने बताया कि जिले के कांग्रेसी अधिकारियों पर दबाव बनाकर उनसे नियम विरुद्ध काम करवा रहे हैं। उन्होंने बताया कि इसी कड़ी की एक ताजा मामला जिला शिक्षा विभाग में उजागर हुई है। विभाग द्वारा जिले के शैक्षणिक भवनों की रंगाई पोताई के लिए करोड़ों रुपये की निविदा आमंत्रित की गई थी। निविदा विभागीय पत्र दिनांक 27/5/2021के अनुसार निविदा प्रपत्र लेने का दिनांक 11/6/2021 तथा निविदा जमा करने कि अंतिम तिथि 13/6/2021निर्धारित की गई है। जो कि नियम विरुद्ध है निविदा में प्रपत्र लेने और जमा करने के समय अंतराल का नियमानुसार पालन नही किया गया है। शिक्षा विभाग द्वारा जावंगा स्थित भवनों में रंगाई पोताई तथा छत मरम्मत के नाम से 50 लाख और जिले के 230 प्राथमिक शाला भवनों के खिड़कियों में एलुमिनियम फ्रेम के साथ जाली फिक्सिंग के नाम से 50 लाख की निविदा निकाली गई है। कांग्रेस ने अपने करीबियों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से शासकीय नियमों को ताक में रखते हुए टेंडर में हेरा फेरी की है।निविदा नियमों के आधार पर क्षेत्रीय और राज्य स्तरीय दो अखबारों में निविदा प्रकाशित होनी थी जिसका पालन भी नही किया गया है। भाजपा जिला अध्यक्ष चैतराम अटामी ने इस निविदा को लेकर बड़ी भ्रष्टाचार की आशंका जताई है। उन्होंने जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर निविदा को निरस्त कर मामले की जांच करवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि जिले में कांग्रेसी सत्ता पावर का धौंस दिखाकर कई विभागों में इस प्रकार के भ्रष्टाचार को अंजाम दे रहे हैं। इन मामलों की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नही की गई तो भाजपा राज्य स्तरीय धरना से भी पीछे नही हटेगी। जिला अध्यक्ष अटामी ने कहा की अन्य विभागों की भी जानकारी ली जा रही है। भाजपा ऐसी भ्रष्ट सरकार, उनके भ्रष्ट अधिकारियों का चेहरा लोगों के सामने लाकर रहेगी।

Related posts

Chhttisgarh

jia

लोन वर्राटू योजना से प्रभावित होकर पांच इनामी माओवादियों समेत 12 माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण दो दर्जन से भी अधिक सुरक्षा कर्मियों की हत्या में थे शामिल

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!