June 20, 2021
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

पुलिस कर्मियों के नाम संदेश ,पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज”
मेरे प्यारे साथियों,जय हिन्द,जय भारत

आपके जज्बे, कर्तव्य परायणता और साहस को सलाम

सरगुजा:-आज हमारा राज्य ही नहीं पूरी दुनिया की मानव जाति संकट के दौर से गुजर रही हैं।लेकिन यह संकट मानव दृढ़ ईच्छा शक्ति के सामने ज्यादा समय तक नहीं टिकने वाला है।संकट का बड़ा हिस्सा गुजर चूका है जिसमें देशवासियों ने धैर्य, संयम व आत्मानुशासन का परिचय दिया है।उसी का नतीजा है कि आज हमारा प्रदेश ऐसी महामारी से बेहतर तरीके लड़कर विजय की तरफ बढ रहा है।बचाकुचा संकट का दौर भी बहुत जल्दी ही गुजर जाएगा।आप सबने काफी मुसीबतें झेली है,जिसका बखान नहीं किया जा सकता है।
लेकिन कहते है ना कि जान है तो जहान है।बस अब कुछ ही दिनों की बात है।सब कुछ सामान्य हो जाएगा।नागरिकों की जान बचाने व महामारी के संक्रमण को रोकने पुलिस ने कई बार अनमने मन से सख्ती बरती है,जिसे सच्चे देशवासी इसे अन्यथा न लेकर क्षमा भी कर देंगे, लेकिन कुछ लोग पुलिस के ऐसे कर्मचारियों व अधिकारियों को सबक सिखाने के लिए उनके स्थानांतरण व सबक सिखाने जैसी भाषा का इस्तेमाल कर रहे है।
लेकिन साथियों इससे निरूत्साहित होने की जरूरत नहीं है।आपकी सख्ती केवल कानून व सरकार के दिशा निर्देशो का पालन न करने वाले लोगों के खिलाफ है और इसका मकसद मानव जाति को बचाने व उनको संक्रमित होने से रोकने के लिए है।आपका साध्य पवित्र है और साधन भी।
जैसे आपने अभी तक बिना अपने जान व कैरियर की चिंता किए नागरिकों को बचाने ड्यूटी किए है आगे भी इस संकट की समाप्ति तक करते रहे।
हमारी प्राथमिकता प्रदेशवासियों की जान बचाना है न कि किसी का अहम संतुष्ट करना।
आप चिंता न कीजिए शासन व प्रशासन मे न्याय प्रिय लोगों की कमी नहीं है।बस न्याय पूर्वक ड्यूटी करते रहे। बस ध्यान रखे आपका कृत्य शासन,पुलिस विभाग व आपकी अपनी छवि खराब करने वाला न हो।संवेदनशील होकर ड्यूटी करें।निर्भीक व निडर होकर काम करें।राज्य के बाहरी लोग छत्तीसगढ़ की अच्छी छवि लेकर जाएं।अपनी सुरक्षा का भी ख्याल रखे। शासन ,प्रशासन और न्याय प्रिय जनता आपके साथ है।
जय हिन्द

रतन लाल डांगी
पुलिस महानिरीक्षक
सरगुजा रेंज, छत्तीसगढ़

Related posts

Chhttisgarh

jia

वानरराज हो रहे सड़क पर वाहनों से दुर्घटना का शिकार

jia

फिक्की राष्ट्रीय पर्यटन ई-कॉन्क्लेव में छत्तीसगढ़ और ओडिशा थीम पर विश्वनाथ के 7 सवालों पर हुई चर्चा।

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!