January 20, 2022
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

सुदूर अंचल के ग्रामीणों ने प्रधानमंत्री की अपील पर दिखाई एक जुटता

रिपोर्टर-कमल देवनाथ

पखांजुर:-दुनिया भर में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से निपटने के लिए कई देशों में तालाबंदी (लॉकडाउन)घोषित किया गया है,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने २४मार्च से भारत में भी १४ अप्रैल तक के लिए ताला बन्दी(लॉकडाउन) की घोषणा की, जिसके बाद उनकी अपील पर पूरा देश इसका पालन कर रहा है.लोग अपने-अपने घरों में रह कर और एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में दूरी बनाए रख कर संक्रमण से फैलने वाले कोरोना की कड़ी को तोड़ने में अपनी सहभागिता निभा रहे हैं,आप को याद दिला दें कि शुक्रवार की सुबह 9 बजे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक वीडियो संदेश के माध्यम से देशवासियों से रूबरू होते हुए उन्होंने देशवासियों से एकजुटता दिखाने की अपील थी.उन्होंने देशवासियों से रविवार की रात नौ बजे नौ मिनट के लिए घर की लाइटें बंद कर अपने घर की दहलीज पर दीया, मोमबत्ती या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाने की अपील की थी.प्रधानमंत्री मोदी के इस वीडियो संदेश के बाद से ही देशवासी इस दिन का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे कि जब पूरा देश उनके इस आह्वान पर एकजुट होकर अपने अपने घरों में सुविधानुसार मिट्टी का दीया, मोमबत्ती या फिर अपने मोबाइल के फ़्लैश लाइट जलाकर एक दूसरे के कंधे से कधां मिला कर एकजुटता का प्रदर्शन करेंं।
इसी तारत्म्य में पखांजुर,बांदे कापसी के नागरिकों ने भी एकजुटता की ऐसी मिसाल पेश की जिसे भविष्य में सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा.क्षेत्र के नागरिकों ने पूरी उमंग औऱ उत्साह के साथ प्रधानमंत्री की अपील को महत्वपूर्ण मानते हुए तालाबंदी (लॉकडाउन) जैसी गम्भीर परिस्थितियों में भी दीवाली जैसी दीपमाला कर एक जुटता का पाठ पुरी दुनिया को पढाया।
इस मौके पर महिला,पुरूष,बच्चों और बुजुर्गों ने एकसाथ मिलकर इस भयानक महामारी से लड़ने की जिस शक्ति का प्रदर्शन किया वह वाकई काबिल ए तारीफ है।

Related posts

जिला बेमेतरा चौकी कंडरका पुलिस की कार्यवाही – 87 पौवा अंग्रेजी गोवा व देशी मसाला शराब के साथ एक आरोपी गिरफ्तार

jia

सेवा सप्ताह मना रही भाजपा जनता से हो रही है रूबरू। मोदी जी के जन्मोत्सव में अस्पतालों,वृद्धाश्रमो में बांटे गए फल। सेवा सप्ताह के अगगमी दिवस में होंगे स्वच्छता, वृक्षरोपण जैसे कार्य।

jia

कोरोना के बाद पत्रकारिता का आलम, कहीं खुशी कहीं गम

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!