October 24, 2021
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

सावधान बच्चों के पौष्टिक आहार में परोस रहे कीड़ा युक्त,रेडी टू ईट का हलवा,

रिपोर्टर:-अरुण कुमार सोनी बेमेतरा,छत्तीसगढ़

बच्चों की सेहत और सुरक्षा की जिम्मेदारी महिला एवं बाल विकास विभाग को दिया गया हैं ।जिसमें आंगनबाड़ी की सहायिका व कार्यकर्ता मिलकर बच्चों को मानसिक शारीरिक तार्किक बुद्धि के साथ साथ प्रारंभिक शिक्षा देने की जिम्मेदारी दिया गया है ।किंतु बेपरवाह व खुदगर्ज लोगों के वजह से सरकार की महतारी योजना में लूट मची हुई है। चंद रुपयों के लालच में ईश्वर स्वरूप नन्हे-मुन्ने व देश के नौनिहाल बच्चों के सेहत के साथ खिलवाड़ करते नजर आ रहे हैं ।जिनका जीता जागता उदाहरण बेमेतरा जनपद मुख्यालय क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत चंदनु के आंगनबाड़ी में मिलने वाली रेडी टू ईट पैकेट हैं ।जो इस बात को जाहिर कर रहा है कि किस तरह बच्चों के सेहत के साथ खिलवाड़ कर पौष्टिक आहार के बदले कीड़ा युक्त हलुवा परोस रहे हैं ।जानबूझकर आंगनबाड़ी के कार्यकर्ताओं व सहायिकाओ के द्वारा पुराने व कुछ खराब पैकेट को रेडी टू ईंट के पैकेट में दलिया बनाकर बच्चों को खिलाया जा रहा है। फिर उक्त पैकेट को गर्भवती व शिशुवती महिलाओं को भी दिया जा रहा है ।उक्त रेडी टू ईट जय महामाया महिला स्व.सहायता समुह भनसुली की महिला समुह द्वारा तैयार की जाती है। जिसका बैच नम्बर भी स्पष्ट नहीं दिखाई दे रहा है। वही गांव में इनकी निगरानी समिति मे ग्राम पंचायत सरपंच व गांव की महिलाओं को रखा गया है । पैकेट आंगनबाड़ी में खाली करते समय किसी जिम्मेदार लोगों को न हीं पूछा जाता हैं, और न ही दिखाया जाता हैं ।नतीजे देखकर आपके भी रोंगटे खड़े हो जाएंगे और तो और आपके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी। किस तरह बच्चों के सेहत के साथ खिलवाड़ कर अपने जेब भरने में लगे हुए हैं ।आखिर कब जागेगे जिम्मेदार अधिकारी और अपने एक जिम्मेदार नागरिक का कर्तव्य कब निभायेगे। जिससे गांव के बच्चों की सेहत खराब ना होने पाये। आंगनबाडिय़ों मे कीड़े लगे घटिया रेडी-टू-ईट की सप्लाई हो रही है। जानवर की जगह बच्चो को ऐसे पोषक आहार खिलाए जा रहे हैं। चंदनु सेक्टरों के आंगनबाड़ी केंद्रों में पोषक आहार में कीड़े मिलने की शिकायत करने पर अभी अभी ड्यूटी ज्वाइन करने का झांसा देकर बचते हुए नजर आ रहे हैं।
इस दौरान चंदनु आंगनबाड़ी केंद्र में रेडी-टू-ईट की पैकेट में कीड़े मिले। इस दौरान मितानीन व अन्य महिलाएं भी मौके पर उपस्थित थी। इस संबंध में राजकुमार जामुळेकर जिला परियोजना अधिकारी बेमेतरा को फोन पर सूचना दी गई,। जिस पर जिला परियोजना अधिकारी ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को फटकार लगाते हुए, तुरंत वितरण रोकने व वितरित किए गए कीड़े लगे पैकेटों को वापस मंगाने निर्देशित किया गया हैं। साथ ही पोषण आहार प्रदान करने वाले समूह पर कार्यवाही करने का आश्वासन भी दिया हैं। पैकेट में उत्पादन तिथि भी स्पष्ट नही लिखा गया है।

Related posts

कोरोना संक्रमण रोक थाम के नाम पर सरकारी अव्यवारिक आदेश के चलते ,बस्तर जिले के ग्राम पंचायत बड़े धाराऊर के स्थायी नाके से टकराकर हुई दुर्घटना में महिला की मौत का जिम्मेदार कौन?जवाब दे जिम्मेदार-मुक्तिमोर्चा

jia

बस्तर के जाबांज अब्दुल समीर को चौथी बार मिलेगा राष्ट्रपति वीरता पदक
बोरतलाव जिला राजनान्दगांव में पदस्थ टी.आई. चौथी बार होंगे सम्मानित

jia

कटेकल्याण में नेटवर्क की समस्या,क्षेत्रवासी परेशान

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!