January 20, 2022
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

कॅरोना अपडेट

छतीसगढ़ में रायगढ़ सहित 25 जिले कोरोना मुक्त,लाकडाउन में मिलेगी छूट

रायपुर कोरोना के रेडजोन में कोरबा ऑरेंज ज़ोन में

जिया न्यूज – रायपुर,

रायपुर-देशभर में कोरोना के मरिजों में लगातार इजाफा हो रहा है लॉक डाउन से संक्रमण की रफ्तार में कमी जरुर आयी लेकिन ब्रेक नहीं लगा अब भी 27 हजार से अधिक मरीज देश के विभन्न अस्पतालों में अपना इलाज करा रहें हैं और रोजाना पंद्रह सौ से अठ्ठारह सौ नये पेशेंट सामने आ रहें हैं 3 मई को लाकडाउन के 40 दिन भी पूरे होने वाले हैं इसलिये कोरोना संक्रमण से मुक्त इलाकों को छूट देने सरकार ने जिलों को अलग-अलग जोन में बांट दिया हैं जिसमें छतीसगढ़ के 27 में से 25 जिले ग्रीन जोन मे़ हैं जबकी एक मात्र जिला रायपुर रेड व कोरबा को आरेंज जोन में रखा गया हैं प्रदेश के लिये बड़ी राहत की बात हैं यह हैं की कोरोना के अधिकांश मरीज ठीक हो चुके हैं और नये मामले सामने नहीं आ रहें छतीसगढ़ में एक्टीव केस में केवल चार मामले बचे हैं दो दिन पहले सूरजपुर व लुडे़ग में प्रवासी मजदूरों को लेकर चिंता जरुर थी लेकिन इस दौर से भी प्रदेश उबर चुका हैं जिस ढ़ग से रिक्वरी हो रही हैं उससे हप्ते भर में छतीसगढ़ के कोरोना मुक्त राज्य बनने की संभावना हैं लाकडाउन के बाद ग्रीन जोन के जिलों में छूट की सीमा बढा़यी जायेगी अभी जिन जिलों में 28 दिन में कोई मरीज नहीं मिला है सिर्फ उन्ही को ग्रीन जोन में रखा गया हैं छतीसगढ़ में तो 21 जिले ऐसे हैं जिनमें से किसी में भी कोरोना का कोई मरीज नहीं हैं जबकी कोरबा को छोड़कर बाकी पांच जिलों में तो इक्का दुक्का ही मरीज सामने आये थे अब उनमें भी कोई नया केस नहीं हैं पूरे देश में छतीसगढ़ की काफी बेहतर स्थिती हैं इसलिये उसे लाकडाउन से छूट मिलना तय हैं

रायगढ़,जशपुर,महासमुंद, जांजगीर चारों एक दूसरे के सीमावर्ती जिलें हैं जो कोरोना संक्रमण से पूरी तरह मुक्त हैं और बिलासपुर में भी अब कोरोना का कोई मरीज नहीं हैं इसलिये इन पांचो जिलों में लोगों को आवाजाही में छूट मिल सकती हैं इन जिलों में 15 अप्रेल से लगे लाकडाउन फेस टू में भी सरकार ने व्यापार व्यवसाय में काफी राहत दी थी जिसमें अब ओर इजाफा होने की पूरी उम्मीद की जा रही हैं इस बीच बिलासपुर संभाग की पहली कोरोना लैब भी रायगढ़ में खोले जाने के आदेश सरकार ने दिये हैं जिससे अब इस इलाके के लोगों की टेस्टींग में तेजी आयेगी और समय रहते उन्हें इलाज भी मिल सकेंगा।

Related posts

नवजात की मौत , परिजन अस्पताल में , डॉक्टरों ने लिखा कोई नही है परिजन
मेकाज के एनआईसीयू स्टाफ पर लगा लापरवाही का आरोप

jia

Chhttisgarh

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!