August 10, 2022
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

पति-पत्नी समेत 4 नक्सलियों ने किया सरेंडर
पति रघु पर 5 लाख और पत्नी लखे पर 3 लाख का इनाम।
पिछले कई सालों से नक्सल संगठन से जुड़े हुए।
कई बड़ी वारदातों में थे नक्सली शामिल।
एसपी शलभ सिन्हा, एएसपी सिदार्थ तिवारी और सीआरपीएफ के अधिकारियों के समक्ष सरेंडर।

मनीष सिंग:-सुकमा,

जिला सुकमा में वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत
छत्तीसगढ़ शासन की पुनर्वास योजना के प्रचार-प्रसार से प्रभावित होकर खोखली माओवादी विचारधारा एवं उनके शोषण,
अत्याचार, भेदभाव एवं हिंसा से तंग आकर प्रतिबंधित नक्सली संगठन में कार्यरत 04 नक्सली सदस्यों क्रमशः 01.
पोडियम गंगा उर्फ रघु निवासी पोलमपल्ली क्षेत्र (कोंटा एलजीएस कमांडर, ईनामी 05 लाख रूपये), 02. मुचाकी लक्खे
निवासी पोलमपल्ली क्षेत्र (कोटा एलजीएस डिप्टी कमांडर, ईनामी 03 लाख रूपये) 03. सोड़ी रमेश उर्फ सोड़ी निवासी
गंगालुर क्षेत्र (सीएनएम सदस्य, गंगालूर एरिया कमेटी अंतर्गत, ईनामी 1 लाख रूपये), 4. हेमला भीमा निवासी
चिंतलनार क्षेत्र (जनताना सरकार अध्यक्ष, लखापाल आरपीसी) के द्वारा नक्सल ऑपरेशन कार्यालय सुकमा में श्री शलभ
सिन्हा, पुलिस अधीक्षक सुकमा, श्री सिद्धार्थ तिवारी, अति. पुलिस अधीक्षक सुकमा, श्री संदीप कुमार, द्वितीय कमान
अधिकारी 74 वाहिनी सीआरपीएफ दोरनापाल, श्री लोकेश मेहतो, डिप्टी कमांडेन्ट, उप महानिरीक्षक सीआरपीएफ,
(ऑप्स.) कार्यालय सुकमा, श्री प्रतीक चतुर्वेदी, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी सुकमा के समक्ष बिना हथियार के
आत्मसमर्पण किया गया।

आत्मसमर्पित पोडियम गंगा उर्फ रघु निवासी पोलमपल्ली क्षेत्र को वर्ष 2005 में प्लाटून नंबर 4 कमांडर
सिंघन्ना (हाल सरेण्डर) के द्वारा नक्सली संगठन में बाल संघम सदस्य के पद पर शामिल किया गया था। नक्सली
संगठन में शामिल होने के बाद वर्ष 2005 से 2006 तक बाल संघम सदस्य, वर्ष 2008 से 2010 सीआरसी 01 कंपनी
(AOB, आंध्रा, उड़ीसा बॉर्डर) में सेक्सन “बी” सदस्य, वर्ष 2011 से 2013 तक सीआरसी 01 कंपनी सेक्सन “बी”

Related posts

संदिग्धों की अब खैर नही, परपा पुलिस है अब एक्शन मोड़ में
शाम होते ही जारी हो जाता है वाहनों की तलाशी लेना

jia

अग्निपथ योजना शिक्षित युवाओं के लिये एक सुनहरा अवसर- राहुल असरानी

jia

नक्सली प्रभावित ग्राम कोटेर के 130 ग्रामीणों का किया कोविड टीकाकरण
स्वास्थ्य टीम नदी पार जाकर

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!