February 22, 2024
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

छत्तीसगढ़ नगर सेना को माननीय सर्वोच्च न्यायालय नई दिल्ली के अदेशानुसार मानदेय में वृद्धि करने की मांग की

आशीष परिहार कांकेर

सभी नगर सेना परिवार कल्याण एसोसिएशन संघ आपसे प्रार्थना करते है, कि हमें सुप्रीमकोर्ट के अदेशानुसार समान कार्य समान मानदेय वेतन पुलिस आरक्षक के बाराबर मानदेय दिया जाए। हम सभी संघ परिवार एसोसिएशन पूरे छत्तीसगढ़ राज्य के सभी जिलों से कलेक्टर को मुख्यमंत्री जी के नाम से ज्ञापन सौंप कर सभी मंत्रियों को उनके बंगले में जाकर ज्ञापन सौंपा, हमारे विभाग के उच्च अधिकारी डीजी महोदय जी तो सिर्फ यही कहते है कि शासन में और विभाग में विचाराधीन है, कब शासन और विभाग में विचाराधीन रहेगा. आज हमारी मानदेय 2013-14 में 10 हजार से बढ़कर 13200 किया है जो आज 7 वर्षो से चल रहा है, बल्कि हमारे उपर दबाव बनाया जाता है कि आप लोग विधायक मुख्मंत्री को ज्ञापन न दे। नहीं तो आपके उपर कार्यवाही कर आपकी सेवा से बर्खास्त किया जाएगा। हम कब तक चुप बैठे रहेंगे माननीय सर्वोच्च न्यायालय सुप्रीम कोर्ट ने भी सन 2016 में 16 सितंबर में समान कार्य समान मानदेय वेतन देने के लिए सभी राज्यो को आदेशित किया है। जैसे मध्यप्रदेश, हिमाचल, प्रदेश हरियाणा, दिल्ली, पंजाब, उत्तर प्रदेश, बिहार में लागू कर पुलिस आरक्षक के समान मानदेय वेतन दिया जा रहा है जिसे छत्तीशगढ में अभी तक लागू नही किया गया। स्वयं मुख्यमंत्री माननीय भूपेश बघेल द्वारा विपक्ष में कांग्रेस के विधायक रहते हुए भाजपा सरकार के माननीय मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह सरकार को पत्र जारी किया गया था। जिसमें 29645 रूपएं देने की बात कहीं थी।

आज वो स्वयं प्रदेश के मुख्यमंत्री है, आज सात सालो में हमें फुटी कौड़ी भी बढ़ोत्तरी नहीं की गई है। अत: सांसद महोदय आपसे सभी नगर सेना परिवार कल्याण एसोसिएशन छत्तीसगढ़ से हाथ जोड़कर निवेदन करते है कि हमें भी राज्य सररकार शिक्षा कर्मियों का दो वर्ष पूर्ण होने के अवधि पर संविलियन करने की घोषणा की है। अत: माननीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी एवं राष्ट्रीय महासचिव माननीय डॉ रमन सिंह माननीय सांसद महोदय मोहन मंडावी से निवेदन है कि पुलिस के बराबर समान कार्य समान मानदेय वेतन हेतु हम सभी सैनिक परिवार आपके अभारी रहेंगे।

Related posts

जिनके हाथों में है बस्तर की सुरक्षा उन्ही से अब भय लगता है -पुरूषोत्तम चंद्रकार

jia

मेकाज के चिकित्सकों ने टेम्पररी पेसमेकर लगा बचाई मरीज की जान

jia

कोविड-19 संक्रमण के मद्देनजर केवल विद्यालय एवं महाविद्यालय बन्द करने के राज्य सरकार के निर्णय पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने उठाया सवाल

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!