August 18, 2022
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

छसबल के विभिन्न वाहनियो से प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे 131 आरक्षक ट्रेडमैन का हुआ दीक्षांत परेड समारोह

प्रशिक्षणार्थियों द्वारा नियमानुसार सोशल डिस्टेंसिंग का किया गया पालन

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा:-9वी वाहिनी छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल कारली में राज्य के विभिन्न वाहनियो से प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे 131 आरक्षक ट्रेडमैन का दीक्षांत परेड समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित सेनानी शशिमोहन सिंह भारतीय पुलिस सेवा ने कहा कि बदलते हुए परिस्थितियो में पुलिस के काम करने के तरीके में ना सिर्फ सकारात्मक बदलाव हुआ है बल्कि निरंतर नई नई चुनौतियाँ हमारे समक्ष आ रही हैं। ऐसी परिस्थिति में नक्सल मोर्चे पर कंधे से कंधा मिलाकर मुकाबला करने के अतिरिक्त भी नवीन जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रही है। मुझे पूरा विश्वास है कि प्रशिक्षण में सिखाये गये ज्ञान का उपयोग कर आप सभी सेनानी उक्त जिम्मेदारियों का बखूबी पालन करेंगे। प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षणार्थियों को ड्रील,हथियार की सिखलाई,बिना हथियार की लड़ाई, योगा, नक्सलियों के विरुद्ध लड़ाई के तरीके तथा विस्फोटको का प्रशिक्षण दिया गया। शासन व पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करते हुये दीक्षांत परेड समारोह का आयोजन किया गया। प्रशिक्षणार्थियों द्वारा नियमानुसार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये मास्क लगाकर परेड में भाग लिया गया। परेड से पूर्व उपस्थित अधिकारी कर्मचारियो द्वारा निर्देशानुसार हैंडवास व सेनेटाइजर का उपयोग किया गया। परेड का नेतृत्व आरक्षक ट्रेड 798 मुकेश बंजारे,4थी वाहिनी छसबल, माना रायपुर द्वारा किया गया। जबकि आल राउंड बेस्ट हेतु आरक्षक ट्रेड 941 मनोकांत महावीर 5वी वाहिनी छसबल जगदलपुर को पुरुस्कृत किया गया। इस अवसर पर वाहिनी के सहायक सेनानीगण संतोष, धर्मेंद्र सिंह बैंस एवं मोहनलाल टंडन सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन कंपनी कमांडर सुशांत भद्र एवं सीडीआई के दायित्व का निर्वहन नारायण सिंह परिहार द्वारा किया गया।

Related posts

पेट्रोल डीजल में वैट टैक्स घटाने भाजपा ने किया चक्काजाम
प्रांतीय आह्वान पर भूपेश सरकार के खिलाफ भाजपा का प्रदर्शन,
चक्काजाम में डटे रहे सैकडो़ं भाजपा कार्यकर्ता

jia

उत्तर बस्तर माओवादी संगठन के सदस्य नक्सल दम्पती अर्जुन ताती एवं लक्ष्मी पद्दा संगठन छोड़कर पुलिस के सम्पर्क में आये।

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!