September 21, 2021
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

लॉक डाउन के बाद भी कन्या शाला गीदम के शिक्षको द्वारा बच्चों को ऑनलाइन तरीके से करवायी जा रही पढ़ाई

शिक्षक बच्चों के घर घर जा कर उन्हें सरकार के पोर्टल से जोड़ रहे व स्कूल के अलग अलग विषयो के बने व्हाट्सएप ग्रुप से दिया जा रहा मार्गदर्शन

जिया न्यूज़:-दंतेवाडा/गीदम,

गीदम:-लॉक डाउन के दौरान बच्चों को पढ़ाई से जोड़े रखने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू किए गये ऑनलाइन क्लास पोर्टल हमर पढ़ाई तुवर द्वार के अंतर्गत दंतेवाड़ा जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कर्मा,व राजेंद्र प्रसाद पांडे,धलेश आर्य, बीईओ गीदम, एबीईओ गीदम व सीएससी गीदम के मार्गदर्शन में शासकीय कन्या स्तर माध्यमिक विद्यालय गीदम के छात्राओं को सीजी स्कूल डॉट इन पोर्टल में अधिक से अधिक बच्चों को ऑनलाइन क्लास पढ़ने के लिए प्रेरित करने हेतु शिक्षक राकेश कुमार मिश्रा और महेंद्र कुमार मंडावी के द्वारा बच्चों के घर घर जाकर छात्रों को ऑनलाइन क्लास का पंजीयन कर ग्रुप में छोड़ने के उपरांत कैसे वीडियो देखें और पढ़ाई करें, होमवर्क कैसे करें और उसको पोर्टल पर अपलोड करें ,सभी टेक्निकल जानकारी बारी बारी से घर घर जाकर जानकारी प्रदान की गयी। और विद्यालय के सभी शिक्षकों को भी सिस्को वेबैक्स में मीटिंग लेकर तथा विद्यालय में कोविड 19 के नियम का पालन करते हुए अलग-अलग दिन मीटिंग लेकर पोर्टल सीजी स्कूल डॉग इन पर कैसे कार्य करें और सभी शिक्षकों को टेक्निकल जानकारी व्याख्याता राकेश मिश्रा द्वारा दी गयी। और समय-समय पर छात्रों को जो भी ऑनलाइन कक्षा में दिक्कत आ रही है दूर करने का प्रयास किया जा रहा हैं।और छात्र ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाई कर रहे हैं की नहीं उसकी शतत निगरानी भी की जा रही है। इसके अतिरिक्त विद्यालय के शिक्षकों द्वारा व्हाट्सएप पर अध्यापन प्राचार्य कैलाश नीलम के मार्गदर्शन में कराया जा रहा है। जिससे माध्यम से बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं। व्हाट्सएप पर शिक्षक शैलेंद्र, नोखेलाल निषाद, महेंद्र सिंह मंडावी,व शैलेंद्र जयसवाल के द्वारा अध्यापन कराया जा रहा है। इन छात्रों को भी सीजी स्कूल डॉट इन पोर्टल में पढ़ने हेतु प्रक्रिया समझाया जा रहा है ये बच्चे भी शीघ्र पोर्टल पर पढ़ाई प्रारम्भ कर देंगे । कुछ छात्रों के पालको से बात करने पर छात्रा आकांक्षा वर्मा की माताजी ने बताया कि मेरी बच्ची प्रतिदिन कक्षा ग्यारहवीं की पढ़ाई के दौरान 6 से 7 घंटे तक पढ़ाई कर पूरे परीक्षा की तैयारी की थी उसके बाद कोरोना के कारण से परीक्षा निरस्त हो जाने कारण से निराश हो गई। दसवीं में तबीयत खराब हो जाने कारण से 88.83 प्रतिशत अंक आया था। जिसके कारण से वह बहुत दुखी हो गई थी वह कमी को दूर करने के लिए कक्षा ग्यारहवीं में मेहनत कर पढ़ाई की और कक्षा ग्यारहवीं की परीक्षा निरस्त हो गई इन सब कारणों के कारण बच्ची को बहुत निराशा हुई कक्षा बारहवीं की सीजी स्कूल डॉट इन पोर्टल पर पढ़ाई चालू होने से बच्चे को तैयारी हेतु एक सुनहरा अवसर मिला और वह अब सब भूलकर नये सिरे से कक्षा 12वीं की पढ़ाई में जुट गई है।और प्रतिदिन तीन से चार वीडियो का अध्ययन करती है होमवर्क भी अपलोड करती है। नोट्स तैयार कर रही है गणित में 2 यूनिट हो गया पूरा और भौतिक में भी 2 यूनिट हो गया है। इसी तरह हारम ग्राम पंचायत के चमरू राम कश्यप ने बताया कि उनकी बच्ची तृप्ति पढ़ाई के प्रति जागरूक है परंतु काम होने के कारण से नहीं पढ़ पाती पालक ने शिक्षक से सहयोग प्रदान करने की बात की मैं अपने बच्चे को पढ़ने हेतु प्रेरित करूंगा।

Related posts

बस्तर पुलिस ने फिर किया एक नेक काम 6 मजदूरों को खाना-पीना खिलाकर वापस भेजा झारखंड

jia

Chhttisgarh

jia

गमावाडा के दिव्यांग को मिली समाज कल्याण विभाग से मदद ।

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!