August 8, 2022
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

सुकमा जिले में समर्थन मूल्य पर अब तक 8671 क्विंटल से अधिक लघु वनोपज की खरीदी

प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति और स्व सहायता समूहों ने संग्राहकों को किया ढाई करोड़ रुपए से अधिक का भुगतान

मनीष सिंग’:-सुकमा,

सुकमा:-प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति और स्वसहायता समूहों के माध्यम से सुकमा जिले में अब तक 8671 क्विंटल से अधिक लघु वनोपज की खरीदी की जा चुकी हैं, वहीं इसके लिए 2 करोड़ 57 लाख रुपए से अधिक का भुगतान संग्राहकों को किया जा चुका है।
समर्थन मूल्य पर लघु वनोपज की खरीदी के लिए ग्राम स्तर पर 64, बाजार स्तर पर 26 समूह के साथ ही 4 वन-धन केन्द्रों में 40 समूह कार्य कर रही हैं। इन 130 समूहों के 1390 सदस्य लघु वनोपज की खरीदी कर रहे हैं। लघु वनोपज की खरीदी के लिए अब तक 2 करोड़ 57 लाख 32 हजार 891 रुपए का भुगतान संग्राहकों को किया जा चुका है।
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा वनोपज का उचित मूल्य उपलब्ध कराने की नीति के तहत समर्थन मूल्य पर लघु वनोपज खरीदी को प्रोत्साहित किया गया था। इसके लिए प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति और स्व सहायता समूहों को राशि भी उपलब्ध कराई गई थी, जिससे वे लघु वनोपज संग्राहकों को तत्काल भुगतान कर सकें। शासन द्वारा अपनाई गई इस नीति के कारण अनेक लघु वनोपजों के बाजार मूल्य में वृद्धि देखी गई, जिसका सीधा लाभ वनोपज संग्राहकों को मिला। इस क्षेत्र में बहुतायत में पाई जाने वाली इमली का खरीदी बाजार मूल्य 35 रुपए प्रति किलो तक देखा गया, जबकि समर्थन मूल्य 31 रुपए प्रति किलो निर्धारित था। इसी तरह महुआ का समर्थन मूल्य 30 रुपए प्रति किलो निर्धारित था, जबकि बाजार में इसे 37 से 38 रुपए प्रति किलो पर खरीदा गया। प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति और स्व सहायता समूहों द्वारा सुकमा जिला में चरौटा बीज, बेहड़ा, हर्रा, करंज बीज, इमली, धवई फूल, कांटा झाड़ू, महुआ फूल, भेलवां बीज, इमली बीज, चिरौंजी गुठली आदि क्रय किया जा रहा है।

Related posts

शराब से पहले राशन का पोर्टल तैयार कर लेती राज्य सरकार तो लोगों का भला होता- रामु नेताम

jia

भूपेश बघेल की नई नीति व फैसले का बस्तरवासियों की ओर से राजीव शर्मा ने किया स्वागत और कहा गढ़त हे छत्तीसगढ़ बढ़त हे छत्तीसगढ़.

jia

सुरक्षा बल को मिली बड़ी सफलता सीआरपीएफ कैंप कमार गुड़ा क्षेत्र से चार नक्सलियों को पुलिस ने किया विस्फोटक के साथ गिरफ्तार

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!