July 29, 2021
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

खसरा नम्बर 48/3 की जमीन का रातो रात हुआ भूमि स्वामित्व परिवर्तन

भूमि स्वामी धर्मवीर गोयल ने आर्सेलर मित्तर निपान इंडिया कंपनी पर पैसे के दम पर उनकी जमीन हड़पने का लगाया आरोप

*गोयल ने आरोप लगया की कम्पनी बिना नगर पालिका के अनापत्ति व पंचयात के प्रस्ताव शासकीय व गैर शासकीय जमीनों पर कब्जा कर रहे है

*कम्पनी ठेकेदारों द्वार कम्पनी के शह पर कुछ अधिकारियों से मिल कर निजी जमीनों पर अवैध रूप से किया जा रहा कब्जा

*बस्तर अधिकार सयुक्त मुक्ति मोर्चा द्वारा सरकार व अधिकारियों से शिकायत के बाद से कम्पनी लीपापोती में हुई व्यस्त

जिया न्यूज़:-दंतेवाडा,

दंतेवाडा:-धर्मवीर गोयल ने आर्सेलर मित्तर निपान इंडिया कंपनी पर आरोप लगाया है कि कि 27 मई तक उनके नाम दिख रही 5 एकड़ जमीन को रातों-रात आर्सेलर मित्तल ने पैसे के दम पर शासकीय भूमि में तब्दील करा दिया। दरअसल मामला यह हैं कि किरन्दुल में पटवारी पारा में धर्मवीर गोयल के नाम से पांच एकड़ जमीन दर्ज है जिसका खसरा नम्बर 48/3 है। यह जमीन के सी देव सेनापति के कलेक्टरी में आर्सेलर मित्तल ने शासकीय जमीन करवा कर लीज हासिल कर लिया था और उस पर अपना अपशिष्ट लौह अयस्क भण्डारित करना सुरु कर दिया। तब धर्मवीर गोयल ने कलेक्टर के इस फैसले को न्यायालय में चुनौती दी थी और न्यायालय ने 30 अक्तूबर 2017 को फैसला धर्मवीर गोयल के पक्ष में सुनाया था। लेकिन एक लगातार आर्सेलर मित्तल निपान इंडिया कंपनी द्वारा अपना वेस्ट मटेरियल भण्डारित किया जाना जारी रखा। उन्होंने इसकी शिकायत 27 मई को कलेक्टर दंतेवाड़ा से करते हुये कार्यवाही करने की मांग की। लेकिन उनके आवेदन देने के दूसरे दिन ही उनके नाम से दिख रही जमीन ऑनलाइन रिकॉर्ड में शासकीय भूमि प्रदर्शित हो रही ही। जो कि गलत व न्यायालय के आदेश की अवमानना है। आज उन्होंने फिर फिर तहसीलदार दंतेवाड़ा को आवेदन देकर ऑनलाइन पंजी में सुधार करने की गुजारिश की है।साथ ही उन्होंने मांग की है कि मामले की जांच कर मेरा भू स्वामित्व का अधिकार प्रदान कर दोषियों पर उचित कार्यवाही की जाये।

Related posts

Chhttisgarh

jia

शांति सौहाद्रपूर्ण माहौल को खराब कर रहे कांग्रेस
चरित्रहीनता का पर्याय बन गया है कांग्रेस
बेटी के उम्र की बालिका को दो पत्नियों के पति कांग्रेसी नेता कहाँ ले गया है कांग्रेस बताएगी

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!