January 31, 2023
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

आदेश्वर पब्लिक स्कूल प्रबंधन कर रहा एक तो चोरी उपर से सीना जोरी वाली कहावत को सिद्ध

बब्बी शर्मा:-कोंडागांव/फरसगांव,

कोंडागाँव:-पत्रकारों को झूठे मामलों में फ़साने और उनके ऊपर आए दिन जान लेवा हमले होना छत्तीसगढ़ में अब सामान्य घटना हो चली है,छत्तीसगढ़ सहित पूरे देश मेंं समाचार संकलन के दौरान किए जाने वाले मारपीट और जान बूझकर झूठे पुलिस प्रकरणों में फँसाए जाने के खिलाफ पूरा पत्रकार जगत जहाँ एक जुट होकर, पत्रकार सुरक्षा कानून की माँग को लेकर समय -समय पर राज्यपाल और मंत्रियों को ज्ञापन दे रहे हैंं,तो वहींं,दूसरी ओर कवरेज के दौरान पत्रकारों के साथ बदसलूकी व गाली गलौच कर जान से मारने सहित मार देने व उठवा देने की धमकियां थमने का नाम नही ले रही है।
ऐसा ही एक प्ररकरण है अदेश्वसर पब्लिक स्कूल फरसगांव का, जहाँ एक स्थानिय पत्रकार भरत कुमार भारद्वाज समाचार संकलन करने गये थे।उसी बीच अदेश्वसर पब्लिक स्कूल की फरसगांव की प्राचार्या सोनाली पांडेय व शाला के कर्मचारियों ने पत्रकार से अभद्रता पुर्वक बात करते हुए गाली गलौज कर जान से मार देने तथा उठवा देने की धमकी दी।

पूर्व में भी शाला प्रबंधन की अनियमित्तताओ को उजागर करने संबंधी समाचार प्रकाशित करने की रंजिश वश पत्रकार से की बदसलूकी

यहां यह बता देना जरूरी है कि वैश्विक महामारी कोरोना विषाणु की रोकथाम के लिए सम्पूर्ण भारत में तालाबंदी घोषित किया गया था, एवं सभी सरकारी व निजी शालाओं को शासन द्वारा किसी भी प्रकार से फीस ना लेने के लिए आदेशित किया गया था। इसी बीच 12 अप्रैल को स्थानीय पत्रकार भारत भारद्वाज को सूचना मिली थी, कि अदेश्वसर पब्लिक स्कूल खुला है व विद्यार्थियों के पालकों को बुला कर जबरिया फीस वसूल कर रहे है, स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के परिजनों से फीस लेने के बाद ही सर्टिफिकेट दिया गया। इसपर जब खबर प्रकाशित हुई तो, जिला शिक्षा अधिकारी ने स्कूल प्रबंधन से स्पस्टीकरण मांगा था, जिस पर पुनः अदेश्वसर पब्लिक स्कूल ने 24 अप्रैल को स्कूल खोल कर परिजनों से यह लिखवाया की परिजनों के कहने पर ही स्कूल खोला गया है। की तभी नायब तहसीलदार हार्दिक श्रीवास्तव ने स्कूल पहुँच कर प्राचार्या सोनाली पांडेय व स्कूल स्टॉफ को फटकार लगाई थी व लॉक डाउन के दौरान शासन के दिशा निर्देशों का पालन करने का आदेश दिया था।

पुनः गुरुवार 04 जून को जब पुनः शिकायत मिलने व बच्चोंं के पालकोंं से फीस उगाही की जानकारी पर जब मीडियाकर्मी कवरेज पर पहुंचे तो, स्कूल प्राचार्या व स्कूल स्टॉफ ने भारत भारद्वाज को धमकाते हुए, गाली गलौज करते हुए, जान से मारने की धमकी दी, जिसके बाद पीड़ित पत्रकार ने तुरंत इसकी शिकायत पुलिस थाना फरसगांव में लिखित रूप से दी है।

सभी कृत्यों में संचालक की रहती है मौन स्वीकृति अदेश्वसर पब्लिक स्कूल फरसगांव के संचालक बसन्त पारख से जब पूंछा गया तो, उन्होंने जवाब देते हुए बताया कि इसकी मुझे कोई जानकारी नही है। पूर्व में भी इस स्कूल में अनियमितता की शिकायत मिलती रही है, जिस पर स्कूल संचालक मौन चुप्पी साधे रहते हैं,और लॉक डाउन पीरियड में भी धड़ल्ले से स्कूल में पढ़ रहे बच्चों के परिजनों पर दवाब बनाकर शासन के आदेशों की धज्जियां उड़ाते हुए, मार्च माह तक की फीस वसूल की गई,जिसकी शिकायत जिला शिक्षा अधिकारी को होने पर भी मामले पर कोई कार्य वाही न करना,स्कूल प्रवबंधन कि ऊंची पहुंच और जिला शिक्षा अधिकारी के संदेहास्पद आचरण को दर्शाता है।

Related posts

गोन्डेरास में मूलवासी बचाओ मंच की विशाल जनसभा,
सभी मांगे कानून के दायरे में-बोमड़ा कोवासी,
लड़ाई जारी रखना बड़ी बात -मनीष कुंजाम

jia

Chhttisgarh

jia

गुरुकुल के छात्र की मौत?सवाल अधूरे, परिजन लगा रहे लीपापोती होने का आरोप

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!