October 18, 2021
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

हत्या के आरोपी को हुई सजा

आशीष परिहार कांकेर

कांकेर जिले सिकसोड थाना अंतर्गत 4 मार्च को शाम 5 बजें चंदल कुमेटी पण्डरीपारा स्थित असारू राम के घर आया थ आधा घण्टा बाद उसका चचेरा भाई तामसिंग भी आया असारू राम के घर में असारू राम, चंदन और तामसिंग रात करीबन साढ़े 7 बजे आग ताप रहें थे और चंदन मोबाईल से विडियों देख रहा था जिसे तामसिंग कोचक रहा था, चंदन उसकी तरफ ध्यान नहीं देने से तामसिंग वही जलती लकड़ी से चंदन को कोचक दिया जिससे चंदन को थोड़ा गुस्सा में आकर दो थप्पड़ मार दिया तथा दोनो के मध्य झूमा झपटी हुए तभी तामसिंग असारू राम के घर से निकल कर अपनी लाड़ी में चला गया। चंदन पीछा करते हुए उसके लाड़ी में रखे बांस के डण्डा से मारपीट करने से उसका चचेरा भाई तामसिंग की मृत्यु हो गई। लाश को चंदन मानसाय द्वारा साक्ष्य छूपाने की नियत से मृतक के शव को मरघट में दफन कर दिया था। ताजा मठ दिखने पर ग्रामीणों को संदेह होने पर पूछताछ करने पर मामले की जानकारी होने पर प्रार्थी शांतु राम कोरेटी पिता रानू राम कोरेटी उम्र 28 वर्षीय, आमोड़ी निवासी के रिपोर्ट पर मौके पर पहुंचकर देहाती नालसी कायम कर वासी पश्चात थाना सिकसोड़ में नम्बरी अपराध क्रमांक 04/2020 धारा 302, 201, 34 भादवी पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है। विवेचना के दौरान कार्यपालि मजिस्ट्रेट एवं डॉक्टर टीम के साथ शव उत्तसखनन एवं मृतक तामसिंग का पंचनामा कार्यवाही पश्चात पोस्अ मार्टम कराया गया। आरोपीगण घटना कारित कर सकुनत से फरार हो गए थ आरोपियों के पता साजी हेतु पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल कांकेर के मार्गदर्शन में एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पखांजुर, कौशलेन्द्र देव पटेल, अनुविभागिय अधिकारी पुलिस अंतागढ़ के दिशा निर्देशन में, थाना प्रभारी उप निरीक्षक अमित पदमशाली के हमराह की टीम गठित कर मुखबीर लगाया गया था जो मुखबीर सूचना पर आरोपियों की पता तलाश के दौरान ग्राम अमोड़ी पहुंचकर खोज बीन के दौरान मिडिल स्कूल के पास दो व्यक्ति पर्दा की आढ़ में छुपा हुआ था। घेराबंदी कर दोनो को पकड़ा गया पूछताछ पर अपना नाम चंदन कुमेटी एवं मानसाय कुमेटी होना बताया। 4 मार्च को तामसिंग कुमेटी की हत्या कारित कर शव को प्रयुक्त बांस डण्डा तथा मठ की खुदाई में उपयोग किया गया गैती व फावड़ा आरोपी द्वारा पेश करने पर जप्त किया गया है। आरोपियों के विरूद्ध पार्याप्त साक्ष्य सबुत पाए जाने से गवाहों के समक्ष 8 मार्च को विधिवत गिरफ्तार कर ज्यूडिश्यिल रिमांड पर भेजा गया है।

Related posts

भाजपा शासन में पोटाकेबिन व वाटरहेड टैंक निर्माण भ्र्ष्टाचार जांच पर दोषी करार अधिकारियों पर कार्यवाही के बदले कांग्रेस सरकार की मेहरबानी क्यों-मुक्ति मोर्चा उच्च न्यायलय ने कमिश्नर बस्तर को जांच एजेंशी नियुक्त कर, तीन माह में रिपोर्ट के आधार पर कार्यवाही के दिये थे। निर्देश ,दो वर्ष बाद भी जांच अपूर्ण दोषी कौन?-मुक्ति मोर्चा

jia

कवर्धा हिंसा न रोक पाने के विरोध में युवा मोर्चा ने किया राज्य सरकार भूपेश बघेल का पुतला दहन

jia

सड़क हादसे में ट्रैफिक आरक्षक की बेटी की मौके पर ही मौत,
माँ, नानी के साथ ही ऑटो चालक भी हुआ घायल,
दशहरा देखकर वापस घर के सामने हुआ हादसा

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!