October 18, 2021
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

अंधे कत्ल की गुत्थी चंद घंटे के अंदर सुलझाई पुत्र एवं पत्नि ने की बिश्राम यादव की हत्या

रिपोर्टर:-अरुण कुमार सोनी बेमेतराबेमेतरा:-

दिनांक 17.जून.2020 के प्रात. 05 बजे डिलवापारा ग्राम अंधियारखोर निवासी विश्राम यादव पिता पकलु यादव उम्र 58 साल अपने निवास में नही थे। जिसकी तलाश दिनांक 17.जून.2020 से ही परिवारजन द्वारा की जा रही थी। विश्राम यादव अपने घर में पत्नि सरोजनी यादव , पुत्र मोहन यादव, पुत्रवधु एवं विवाहीत बेटी के साथ निवासरत थे। आज दिनांक 18.जून.2020 के प्रात. 07 बजे बिश्राम यादव के पुत्र मोहन यादव ने अपने चचेरे भाईयो विष्णु यादव एवं हेम लाल को स्वयं लेकर घर के पास के गड्ढे की ओर लेकर गया एवं स्वयं अपने पिता की लाश को देख कर बताया ।उसके पश्चात मोहन यादव के चचेरा भाई हेमलाल ग्राम अंधियारखोर के कोटवार के साथ थाना नवागढ पहुचकर इसकी सुचना दिया। थाना नवागढ में प्रात. 08 बजे अपराध क्र. 150/2020 धारा – 302,201 भादवि का अपराध अज्ञात आरोपी के विरूद्ध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। घटना की सूचना मिलने पर तत्काल पुलिस अधीक्षक बेमेतरा दिव्यांग पटेल, अति. पुलिस अधीक्षक विमल कुमार बैस, एसडीओपी बेमेतरा राजीव शर्मा एवं थाना प्रभारी नवागढ निरीक्षक निरीक्षक विपीन रंगारी अपने थाना स्टाफ के साथ पहुचकर घटना स्थल का मुआयना किया। मामले की गंभीरता को मद्देनजर रखते हुए तत्काल पुलिस अधीक्षक बेमेतरा दिव्यांग पटेल द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विमल कुमार बैस को निर्देशित कर एसडीओपी बेमेतरा के नेतृत्व में थाना प्रभारी नवागढ निरीक्षक विपिन रंगारी व थाना स्टाफ को आरोपी पता साजी कर तत्काल कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया।

शव पंचनामा कार्यवाही विवेचना के दौरान मृतक बिश्राम यादव के संबंध में यह तथ्य प्रकाश में आया की मृतक बिश्राम यादव नशा करने का आदी था । अपनी पत्नि सरोजनी यादव को मारपीट करता था व अन्य महिलाओ से इसके अवैध संबंध थे। बिश्राम यादव के इस कृत्य से परिवार एवं समाज के बीच मृतक बिश्राम यादव के पुत्र एवं पत्नि अपने आप को अपमानित महसुस करते थे एवं मृतक के इस कृत्य से उनकी बदनामी भी हो रही थी। मृतक के इस कृत्य से निजात पाने के लिए पत्नि एवं पुत्र ने दिनांक 17जून.2020 की देर रात्रि जब बिश्राम यादव शराब सेवन कर अपने घर की परछी में अकेला सोया था। तब बिश्राम यादव की पत्नि एवं पुत्र मोहन यादव, बिश्राम यादव का सोने का इंतजार कर रहे थे। बिश्राम यादव जब गहरी नीद में सो रहा था। तब रात्रि करीब 2.30 रात्रि बजे पुत्र मोहन यादव व पत्नि सरोजनी यादव दोनो एक राय होकर मृतक बिश्राम यादव का गला दबाये तथा पत्नि सरोजनी यादव ने उनके पैरो को पकडते हुए हत्या करने में मदद की । गला दबाने के उपरांत मोहन यादव ने मृतक के गमछे से ही मृतक के मुह को बांध दिया। 17.जून.2020 के सुबह 03 बजे पुत्र मोहन यादव व पत्नि सरोजनी यादव ने बिश्राम यादव के शव को अपने घर के पास के गड्ढे में ले जाकर बेशरम की झाडियो में छिपा दिये।
अभी तक की विवेचना एवं प्रकरण में मिले परीस्थितिजन्य साक्ष्य एवं भौतिक साक्ष्यो के अधार पर आरोपीगण 01. मोहन यादव पिता विश्राम यादव उम्र 21 साल 02. सरोजनी यादव पति स्व. विश्राम यादव उम्र 55 साल साकिनान डिलवापारा अंधियारखोर के विरूद्ध अपराध घटित करने के पर्याप्त प्रमाण होने पर से उन्हे अभिरक्षा में लेकर अनुविभागीय अधिकारी बेमेतरा राजीव शर्मा एवं थाना प्रभारी नवागढ द्वारा लगातार गहन पुछताछ की जा रही है।
उक्त कार्यवाही में पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल एवं एसडीओपी बेमेतरा राजीव शर्मा के द्वारा मौके पर ही संदेही मोहन यादव व उसकी मां सरोजनी यादव से पुछताछ की गई। जिससे उनकी अपराधिक मनोस्थिति का पता चल गया था। थाना प्रभारी नवागढ निरीक्षक विपिन रंगारी, उनि. जी.पी. चिण्डा, प्र. आर. पवन राजपूत, आर. छोटु तेंदुकर, आर. विनोद राजपूत, आर. जगतारण नारंग, आर. अमित यादव, आर. पुना सिंह, महिला आर. सुनीत जांगड़े एवं अन्य थाना स्टाफ का सराहनीय भुमिका रही है।

Related posts

ड्यूटी के साथ मानवता का परिचय देती दिखी बस्तर पुलिस

jia

महारानी अस्पताल में निःशुल्क विश्व हृदय दिवस पर हुआ कार्यक्रम

jia

निजी कंपनी के हाथ आई अगर एनएमडीसी तो होगा अनिश्चित कालीन हड़ताल
मेकान कंपनी के डायरेक्टर प्रोजेक्ट को नही दिया अंदर जाने

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!