July 29, 2021
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

जिले के प्रवेश द्वार कहलाने वाली फूलों की घाटी
का विकास पर्यटन स्थल के रूप में किया जायेगा

जिया न्यूज़:-बब्बी शर्मा-कोण्डागांव,

कोण्डागांव:-बस्तर का प्रवेश द्वार कहलाने वाली सर्पाकार केशकाल घाटी यू तोअपनी सुरम्य पहाड़ियों एवं घाटियों के लिए जानी जाती है परन्तु इस क्षेत्र मे ऐसे अनेक अनजाने अनचिन्हे दर्शनीय स्थल है,जिन पर बाहरी क्षेत्र के पर्यटकों की नजर नहींं पड़ती है।
इसी क्रम मेंं केशकाल विकासखण्ड के ग्राम खालेमुरवेण्ड के समीप बहने वाली लीमधारा नदी द्वारा अपने जल बहाव क्षेत्र में उबड़ खाबड़ पथरीले विशाल मैदान मेंं कई प्राकृतिक टापूओं का सिरजन किया है,यह क्षेत्र एक ओर तो पर्वत एवं संघन वनो से आच्छादित है वहीं दूसरी ओर टापूओं के बीच बहती नदी का स्वरूप वास्तव मे दर्शनीय होता हैं इस प्रकार यह स्थान एक आदर्श पर्यटन स्थल बनने की क्षमता रखता हैं इसके अलावा यहाँ से पास ही टाटामारी,पंचवटी, गढ़धनोरा जैसे पर्यटन स्थल भी हैंं जंहा साल भर बाहरी और स्थानीय पर्यटको की आवाजाही लगी रहती है।
इन सभी संभावनाओ को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा यहां पर्यटन सुविधा के साथ साथ बहुआयामी गतिविधियां जैसे सांस्कृतिक क्रियाकलाप, साहसिक खेल कूद, पक्षी अभ्यारण, नौकायन, बस्तर के सांस्कृतिक गतिविधियों को दर्शाने के लिए संग्रहालय, देशी स्वल्पाहार आदि केन्द्र प्रारंभ करने योजना बनाई जा रही है ताकि अधिक से अधिक पर्यटकों को आकर्षित किया जा सके।
इस संबध मे एक आवश्यक बैठक २६जून को कलेक्ट्रेट के सभागार मेंं आयोजित की गई, बैठक में वनमण्डलाधिकारी धर्मशील गणवीर, मुख्यकार्यपालन अभियंता पी.एम.जे.एस.वाय अरूण शर्मा, अनुविभागीय अधिकारी वन वरूण जैन, अनुविभागीय अधिकारी आर.ई.एस. सचिन मिश्रा सहित कार्यपालन अभियंता आर.वी. सिंह सहित सभी विभागो के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक मे कलेक्टर पुष्पपेंद्र मीणा ने कहा कि जिले को पर्यटन नक्शे में उभारने के लिए इन क्षेत्रो में सुविधाओं को विस्तार देने की जरूरत है ताकि देश दुनिया को इसकी जानकारी हो सके इसके अलावा पर्यटन से स्थानीय रोजगार से बढावा मिलेगा। इसके साथ ही उन्होने संबंधित विभागो को गाड़ियो के पार्किंग व्यवस्था के लिए शेड का निर्माण, रैस्टोरैंट,स्वच्छ बायोप्रसाधन कक्षोंं की व्यवस्था, संपूर्ण क्षेत्र मे नारियल वृक्षो के रोपण और फैंसिग करवाने के लिए भी संबधित विभागो को निर्देश दिये और उन्होने सम्पूर्ण कार्ययोजना का प्रस्ताव भेजने के लिए समय-सीमा भी तय कर दिया है।

Related posts

राज्य भर में दंतेवाडा के हर्बल गुलाल की धूम
कलेक्टोरेट के सामने लगाये समूह के स्टॉल ने कमाये दो दिन में लगभग 60 हजार रू.

jia

विशेष पुलिस महानिदेशक व महानिरीक्षक बस्तर रेंज कर रहे नक्सल प्रभावित क्षेत्र का दौरा जवानों की समस्याओं को सुनकर कर रहे उनका निराकरण पल्ली – बारसूर मार्ग को अतिशीघ्र पूर्ण करवा कर क्षेत्र में शांति बहाल व् विकास के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश।

jia

नक्सलियों ने भैरमगढ़ इंद्रावती टाइगर रिजर्व परिक्षेत्र अधिकारी की धारदार हथियार से हत्या कर दी , मजदूरी भुगतान करने गए थे कोंडरोंजी, इलाके में दहशत का माहौल

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!