August 8, 2022
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

पूर्व कलेक्टर शिखा राजपूत की “अंजोर” अभियान ने फैलाया बेमेतरा में “उजियारा” ऐसे सुधरा शिक्षा का स्तर

अरुण सोनी:-बेमेतरा,

बेमेतरा :- बेमेतरा के पूर्व कलेक्टर आईएस शिखा राजपूत तिवारी के अंजोर अभियान से शिक्षा गुणवत्ता की दिशा में बेहतर परिणाम सामने आए हैं।दसवीं बारहवीं के परिणाम घोषित होने के बाद से हर कोई श्रेय लेने की होड़ में लगा हुआ है।वहीं बेमेतरा जिले में शिक्षा गुणवत्ता के लिए तत्कालीन कलेक्टर शिखा राजपूत ने अंजोर योजना की शुरुआत की थी।जिसकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है।
आपको बता दें कि जब बीते वर्ष बेमेतरा जिले के परीक्षा परिणाम आए तो जिले का रिजल्ट काफी निराशाजनक रहा बेमेतरा जिला 27 वें पायदान में पहुंच गई थी।जिसके बाद यहां की शिक्षा पद्धति पर सवालिया निशान खड़े हो गए ।हमेशा शेष शिक्षा में अपना परचम लहराने वाले बेमेतरा आखिर कैसे 27 वे पायदान पर पहुंच गई ।जिस की समीक्षा भी जरूरी थी और साथ ही प्रशासन के ऊपर जिम्मेदारी भी आ गई कि कैसे यहां शिक्षा के स्तर को सुधारा जाए और बेहतर परिणाम लाया जाए ।
जिले में शिक्षा में सुधार करने के लिए एक अनोखी पहल पूर्व कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी ने की थी। , जिनका परिणाम रहा कि इस वर्ष बोर्ड की परीक्षाओं में बेमेतरा जिले के परिणाम में बढ़ोतरी हुई ।साथ ही साथ दसवीं में दूसरे नंबर पर भी बेमेतरा जिले की लड़की रही ।अंजोर कार्यक्रम के तहत में शिखा राजपूत तिवारी ने शिक्षा विभाग से मिलकर शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिएअभियान चलाएं , अभियान के तहत उन्होंने जिले भर के सभी प्राथमिक शाला ,पूर्व माध्यमिक शाला ,हायर सेकेंडरी ,हाई स्कूलों की पूरी सूची मंगाई जिसमें समीक्षा करने के बाद स्कूलों में आने वाली परेशानियों और परिणामों में कमी के विषय पर समीक्षा किया गया ।
कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी ने यह जिले में अंजोर कार्यक्रम चलाया और परिणाम यही रहा कि इस वर्ष परीक्षा के परिणाम में 15% बढ़ोतरी हुई। साथ ही साथ दसवीं के टॉप में भी बेमेतरा की छात्रा ने बाजी मारी । वहीं इस सफलता में बेमेतरा डिप्टी कलेक्टर संदीप ठाकुर और शिक्षा विभाग के बेमेतरा जिला DEO सी एस ध्रुव का अच्छा योगदान रहा शिक्षा के क्षेत्र में बेमेतरा जिले का नाम रोशन होने के बाद में जिले के बच्चे और पालक पूर्व कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी को धन्यवाद दे रहे हैं।

Related posts

कांग्रेस की नजर लगी दन्तेवाड़ा को, जिधर देखो भय का आलम : चैतराम अट्टामी

jia

Chhttisgarh

jia

18 घण्टे लापता रहे एकलव्य छात्रावास बेसोली के 2 छात्र पुलिस को क्यों नही हुआ सूचना – कमलेश दीवान

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!