October 25, 2021
Uncategorized

Chhttisgarh

Spread the love

बस्तर में चल रहे अवैध ब्याज के धंधे पर कार्यवाही करें प्रशासन-मोर्चा

बस्तर में पेशा एक्ट लागू ,कर्जा एक्ट लागू ,फिर भी अवैध ब्याज खोर आम आदमी को बना रहे हैं। निशाना,नियमो व इंसानियत को ताक में रखकर कर है। ब्याज का अवैध व्यापार-मोर्चा

बस्तर अधिकार सयुक्त मुक्ति मोर्चा ,अवैध ब्याज करोबार के खिलाफ कार्यवाही हेतु चलाएगा विशेष जागरूकता अभियान, पुलिश व जिला प्रशासन को सौपेगा ज्ञापन-मोर्चा

बस्तर की जनतासे अपील अवैध ब्याज खोरो जो इंसानियत को शर्म सार कर लोगो की मजबूरियों का फायदा उठा शोषण करने में लगे हैं।उन पर कार्यवाही हेतु अभियान का हिस्सा बने-मोर्चा

जिया न्यूज़:-जगदलपुर,

जगदलपुर:-कोरोना महामारी के काल मे जहां एक तरफ लोगो की नोकरी ,रोजगार व व्यापार पूरी तरह से प्रभावित हुआ है। तो वही दूसरी तरफ बस्तर के लोगो की मजबूरियों व जरूरतों का फायदा उठाने के जिले के गाँव व शहर में 7 प्रतिशत 40 प्रतिशत तक अवैध रूप से ब्याज वशूलने का कार्य जोरो पर है। इस अवैध कार्य को बस्तर के कुछ लोगो ने व्यापार बना लिया है।जहाँ उनके निर्धारित एजेंट द्वारा व्यापारियों व मजबूरी में फंसे लोगों का पता लगा उनको मद्त के नाम पर जरूत भरी रक़म दे , मूल से कई अधिक मात्रा में ब्याज वसूला जा रहा है। शहर व गांव इस अवैध ब्याज के व्यापार ने अपने जड़े इस कदर जमा लिये है। हर वार्ड या गांव में इस व्यापार के शिकार अपने शोषणता की कहानी बता रहे हैं। जानकारों ने बताया कि यह ब्याज का अवैध व्यापार विगत 2008 से बस्तर में ज्यादा पकड़ मजबूत किया है। और करोड़ो रूपये के काले धन को इस व्यापार में लगाया गया है। जिसका करोड़ो रूपये का हर महीने ब्याज इन अवैध व्यापार से जुड़े व्यापारियों के पास आ रहा है। जिसकी जानकारी न ही इनकम टैक्स कार्यलय न ही सेल टैक्स कार्यलय को हैं। और न ही जिला प्रशासन या पुलिश प्रशासन को हैं। सरकार के नाक के नीचे बड़े राजनीतिक पहुँच व प्रशासन में पकड़ रखने वाले
लोगो ,अधिकारी ,व्यपारियों के अवैध पैसे को निचले स्तर पर एजेंटों के सहारे 7 प्रतिशत से 40 प्रतिशत तक ब्याज की रकम की कमाई के लिए मूल के रूप में अवैध कर्ज लोगो की मजबूरियों को भाफ कर दिए जा रहे हैं। सही समय पर कर्ज व ब्याज नहीं चुकाने पर गिरवी रखी वस्तु को बेचना ,या गाली गलौच करना ,मरना ,डराने का कार्य कर मानशिक रूप से शोषित किया जा रहा है। कही तो ऐसे भी मामले है। जहाँ ब्याज पर ब्याज वशूल कर मजबूर लोगो का शोषण नही किया जा रहा है। शहर में हुए कई हादशे इस से भी जुड़े हुए हैं। जहाँ प्रार्थी ब्याज के चक्र में फस कर खुद को नुकसान पहुचाने या शहर छोड़ कर चले जाने में मजबूर हो गया है।बस्तर अधिकार सयुक्त मुक्ति मोर्चा के सयोजक व प्रवक्ता नवनीत चाँद ने ब्याज के अवैध व्यापार पर बस्तर प्रशासन व सरकार का ध्यान आकर्षित कर कहा है। की बस्तर पांचवी अनुसूची इलाको में से एक है। जहाँ 1996 में पेशा एक्ट लागू है। वही कर्जा एक्ट भी लागू है
जहाँ बिना शासन के व ग्राम सभा व नगर निगम व पालिका व नगर पंचयात के अनुमति के व बिना लसेंश लिए किसी भी प्रकार का कर्ज व ब्याज न लिया जा सकता है। न दिया जा सकता है। वैसे में कुछ कम्पनियो व लोगो द्वारा नियमो को ताक में रख बिना अनुमति के करोड़ो रूपये का कर्ज मजबूर लोगो को गलत ढंग से बाट उन्हें कर्ज के जाल में फसा उन से ब्याज के ऊपर ब्याज वशूल कर उनका शोषण किया जा रहा है। शिकायत के अभाव में प्रशासन व सरकार की उदाशीनता ने इस व्यापार को बस्तर में फलने वह फूलने का आपार मौका प्रदान कर दिया है
जिसके चलते रसुद खोरो ने इसे व्यापार का रूप दे अवैध सिंडिकेट का रूप दे दिया है। बस्तर के लोगो को शोषण का शिकार बना रशुद खोरो के खिलाफ बस्तर अधिकार सयुक्त मुक्ति मोर्चा कार्यवाही हेतु एक अभियान चलाएगा ,वह इस के शिकारकर्ताओ की को न्याय दिलाने हेतु जिला,व पुलिश प्रशासन को शिकायत पत्र सोप कार्यवाही की मांग करेगा
मोर्चा बस्तर की जनता से अपील करता है। कि इस अभियान से जुड़ कर बस्तर को रशुद खोरो के चुंगल से
छुड़ाने में सहयोग प्रदाय करे

Related posts

Chhttisgarh

jia

Chhttisgarh

jia

भूपेश सरकार की अभिनव पहल, नगरीय क्षेत्रों में दे रही वनाधिकार पट्टा
नगरीय क्षेत्रों में पट्टा वितरण करने वाली देश की पहली सरकार – विक्रम शाह मंडावी

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!