September 21, 2021
Uncategorized

बाल कल्याण विभाग करेगा देखरेख कोरोना पीड़ित के बच्चो को

Spread the love

जिया न्यूज़:-जगदलपुर,

जगदलपुर:-प्रदेश में कोरोना का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। उक्त बढ़ते हुए प्रकोप की रोकथाम हेतु शासन द्वारा विभिन्न गतिविधियाँ संचालित की जा रही है। कोरोना वायरस के संदिग्ध मामलों को ध्यान में रखते हुए जिला कलेक्टर रजत बंसल के दिशा निर्देशानुसार जिला कार्यक्रम अधिकारी अवनी कुमार बिसवाल के मार्गदर्शन में जिला बाल संरक्षण इकाई द्वारा कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों तथा ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता उनका पालन-पोषण करने में असमर्थ है या जिनके माता-पिता कोविड19 से प्रभावित है। उन्हें जिला बाल संरक्षण इकाई द्वारा किशोर न्याय (बालकों का देखरेख एवं संरक्षण) अधिनियम 2015 के तहत बाल कल्याण समिति के माध्यम से उचित आश्रय एवं संरक्षण प्रदान किया जायेगा। वर्तमान में कोविंड के कारण अस्पताल में भर्ती हो जाने पर बच्चों की देखरेख में असमर्थ माता-पिता तथा कुछ मरीजों की दुर्भाग्यवश मृत्यु हो जाने पर महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा उनके अंतरिम अवधि के लिए बाल देखरेख संस्थाओं में आश्रय प्रदान करते हुए उनके पुनर्वास के लिए कार्यवाही की जावेगी सोशल मीडिया के माध्यम से कई बार बच्चों को गोद लेने देने की बात की जाती है। इस प्रकार की गतिविधियों से बचना चाहिए। कई बार अपराधिक तत्वों द्वारा इस प्रकार की परिस्थितियों का लाभ लेकर मानव व्यापार व्यापार जैसे प्रकरण सामने आते है। ऐसी घटनाओं से बचने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बच्चों की देखरेख संरक्षण एवं पुनर्वास हेतु दूरभाश नंम्बर जारी किए गए हैं जिन पर संपर्क कर सहायता प्राप्त की जा सकती है। जिले के नागरिकों से अपील की जाती है कि ऐसे किसी प्रकरण की जानकारी होने पर तत्काल चाईल्ड हेल्पलाइन नम्बर लाइन 1098 7489620934 जिला बाल संरक्षण इकाई 07782222680, 7646961276 पुलिस हेल्पलाईन 9407694039, 112 तथा बाल कल्याण समिति 9406284482 07782237050 नंबर पर शीघ्र सूचना प्रदान करें।

Related posts

Chhttisgarh

jia

बस्तर के नेता नवनीत चांद व भरत कश्यप पर समाज सेवा के बाद राज्य सरकार का FIR दर्ज करना निंदनीय घटना है– सर्व आदिवासी समाज मिडिया प्रभारी गुंडाधूर मंगल

jia

नक्सलियों ने अपह्रत एएसआई गागैया कोरसा की निर्मम हत्या छुट्टी पर जाने के लिए बाइक से निकले थे एएसआई

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!