October 18, 2021
Uncategorized

केंद्र के समान भत्ता देने की मांग
महंगाई नही मंहगाई भत्ता चाहिए- संतोष मिश्रा

Spread the love

जिया न्यूज़:-दन्तेवाड़ा,

दन्तेवाड़ा:-छ ग शालेय शिक्षक संघ दन्तेवाड़ा के जिलाध्यक्ष संतोष मिश्रा ने 01 जुलाई 2019 से अब तक लंबित मंहगाई भत्ता का आदेश शीघ्र जारी करने का मांग की है।
उन्हों ने बताया की 01 जनवरी 2019 से अभी तक छत्तीसगढ़ के कर्मचारियों को राज्य सरकार 12℅ मंहगाई भत्ता दे रही है।जुलाई 2019 से लंबित 5% मंहगाई भत्ता एवं जनवरी 2020 से लंबित 4% मंहगाई भत्ता, जुलाई 2020 से लंबित 3 % भत्ता, जनवरी 2021 से लंबित 4% भत्ता को मिलाकर जून 2021 की स्थिति में 16 % मंहगाई भत्ता से कर्मचारी पीछे चल रहें जिसे सरकार तत्काल स्वीकृत कर कर्मचारियों को प्रदान करें, राज्य सरकार ने कोरोना के मद्देनजर कर्मचारियों का महंगाई भत्ता रोक रखा है अब लाकडाउन पूर्णतया खत्म हो चुका है कर्मचारियों ने अपनी जान जोखिम में लगाकर बिना कोरोना वारियर का दर्जा प्राप्त किए कोविड-19 महामारी से निपटने में अपना शत-शत योगदान दिया है ।ऐसे में अब राज्य सरकार की बारी है कि वह भी अब अपने कर्मचारियों को महंगाई भत्ता 16% बढ़ाकर केंद्र के बराबर करें । कोरोना के दौर में महंगाई भी सुरसा की तरह मुंह बाये लोगों को लीलने मे लगी है महंगाई सूचकांक में लगातार वृद्धि हो रही है जिससे कर्मचारियों का परिवार महंगाई के बोझ तले दब गया है महंगाई भत्ता जारी होने से कर्मचारियों को महंगाई से तत्काल राहत मिलेगी। उन्होंने राजस्थान सरकार के केन्द्र के बराबर महंगाई भत्ता बढ़ाने के फैसले का स्वागत किया है और कहा है छत्तीसगढ़ भी संसाधन से परिपूर्ण राज्य है और अपने मुखिया माननीय भूपेश बघेल से उनकी घोषणा पत्र के अनुरूप अविलंब महंगाई भत्ता केन्द्र के बराबर करने की मांग की है।

शैलेष सिंह कुलदीप सिंह चौहान कमल कर्मकार दिनेश गवेल नारायण साहू अंकित गुप्ता गजलू पोडियम केंद्र सरकार द्वारा कर्मचारियों को 01 जुलाई 2019 से 17 प्रतिशत मंहगाई भत्ता दिया जा रहा था, वर्तमान ने केंद्र सरकार ने समेकित रूप से 3 किश्त का 11% महंगाई भत्ता देने का निर्णय लिया है, जिसके अनुसार केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 17% बढ़ा कर 1 जुलाई 2021 से 28% करने की घोषणा की है।छत्तीसगढ़ में भी सरकार ने कर्मचारियों को मंहगाई भत्ता देने पर आगामी आदेश पर्यंत तक रोक लगा रखा है, परन्तु केंद्र सरकार के निर्णय के बाद छत्तीसगढ़ सरकार केन्द्र सरकार की तरह लंबित महंगाई भत्ता की किश्त जारी करते हुए 28% महंगाई भत्ता प्रदान कर कर्मचारियों को अंतरिम राहत प्रदान करें।
महेन्द्र यादव धीरेंद्र सिंह गौतम,पुरुषोत्तम साहू,संदीप सामंत, रजनीश ओसवाल,दिनेश कुमार गवेल, पी एल ठाकुर,जितेंद्र सिंह चौहान,अंकित गुप्ता, राजीव मिश्रा,पलकेंष सोनी,केेशाव स्वर्ण,आनंद मुड़ामी,गजलू पोडियाम, महावीर नाग,चंद्रकांत कुमार छांटा,ज्ञानेंद्र चतुर्वेदी,संतोष यादव ,उमेश श्रीमाली ठाकुर राम सेठिया,रामचरण यादव,योगेश सोनी आशुतोष शिवहरे महिला मोर्च की ब्लाक अध्यक्ष माधुरी उके,दिप माला वेक,वेदिका नाग मीना कोर्राम प्रेमलता जैन,शीला कड़ियांम दिलेश्वरि ठाकुर संगीत चंद्रवंशी नीलम नेताम द्रोपती बगमरिया संध्या मरकाम राजकुमारी सिन्हा सुधा ठाकुर ने संयुक्त रूप से कहा है कि स्वास्थ्य कर्मी, शिक्षक ,पुलिस, सफाई कर्मी, नगर निगम नगर पालिका के कर्मचारी, हों या कोई भी कर्मचारी दिन-रात इस कोरोना जैसी महामारी में अपनी सेवा दे रहे हैं वही आज महंगाई भी अपने चरम पर है ऐसे में कर्मचारियों को दोहरी मार का सामना करना पड़ रहा है एक ओर जहां पेट्रोल डीजल के दामों में बढ़ोतरी होने के कारण बाजार में समस्त सामग्रियों के मूल्य में वृद्धि अपने उच्चतम स्तर पर है। संघ ने सरकार से जल्द से जल्द केन्द्र के समान रोक को हटा हुए वेतन वृद्धि एवं मंगाई भत्ते जल्द से जल्द स्वीकृत कर कर्मचारियों को राहत प्रदान करने की मांग की है ।

Related posts

Chhttisgarh

jia

Chhttisgarh

jia

भूपेश सरकार में कृषि ऋण माफ़ी और धान के समर्थन मूल्य का लाभ भाजपाइयो ने जमकर उठाया – ज्योति कुमार

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!