June 24, 2021
Uncategorized

लोन वर्राटू से प्रभावित होकर दो इनामी सहित पांच माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण
पुलिस विरोधी विभिन्न नक्सल गतिविधियों में रहे है शामिल

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा:-जिले में चलाए जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत दंतेवाड़ा के विभिन्न ग्रामों के व्यक्ति जो प्रतिबंधित नक्सली संगठन में सक्रिय हैं उन्हें आत्मसमर्पण कर सम्मान पूर्वक जीवन यापन करने के लिए थाना, कैम्पो एवं ग्राम पंचायतों में संबंधित क्षेत्र के सक्रिय माओवादियों के नाम चस्पा कर लोन वर्राटू अर्थात घर वापस आइये अभियान चलाया जा रहा है। एवं पुलिस अधीक्षक दंतेवाड़ा डॉ अभिषेक पल्लव द्वारा नक्सली संगठन में सक्रिय माओवादियों से आत्मसमर्पण कर सम्मान पूर्वजीवन यापन करने के लिए लगातार आह्वान कर अपील की जा रही है।

इस अपील से प्रभावित होकर भैरमगढ़ एरिया कमेटी कमांडर एसीएम, ऐसी समन्वयक एवं डीएकेएमएस अध्यक्ष गंगू उर्फ लखन कुहडम पिता कुम्मा एवं भैरमगढ़ एरिया कमांडर एवं पश्चिम बस्तर डिवीजन केएएमएस उपाध्यक्ष तथा भैरमगढ़ एरिया कमेटी अध्यक्ष श्रीमती लक्ष्मी उर्फ सन्नी, नहाडी पंचायत मिलिशिया सदस्य हेमला बंडी, गुमिया पाल पंचायत मिलिशिया सदस्य कोसा मड़काम, दुरमा पंचायत मिलिशिया सदस्य माड़वी हिड़मा, ने लोन वर्राटू अभियान तथा माओवादी संगठन की खोखली विचारधारा से तंग आकर एवं शासन की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर शासन की मुख्यधारा से जुड़ कर विकास में सहयोग करने की इच्छा से उप पुलिस महानिरीक्षक केरिपुबल दंतेवाडा विनय कुमार, पुलिस अधीक्षक दंतेवाडा डॉ अभिषेक पल्लव, द्वितीय कमान अधिकारी राजीव तिवारी, एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यू उदय किरण के समक्ष आत्मसमर्पण किया। शासन की पुनर्वास नीति के तहत मुख्यधारा में शामिल होने पर शासन के पुनर्वास नीति के तहत आत्मसमर्पण पश्चात समाज की मुख्यधारा में शामिल होने पर आत्मसमर्पित माओवादियों को दस दस हजार रुपये प्रोत्साहन राशि स्वरूप दिया गया। विगत सात माह में लोन वर्राटू अभियान से प्रेरित होकर 74 इनामी माओवादी सहित 293 माओवादियों ने आत्मसमर्पण कर मुख्यधारा से जुड़ चुके हैं। ये सभी माओवादी पुलिस विरोधी विभिन्न नक्सल गतिविधियों में शामिल रहे हैं।

Related posts

Chhttisgarh

jia

धुरली में अवैध खनन पर कामो कुंजाम गरजे, प्रदर्शन की दी चेतावनी

jia

कोरोना वॉरियर्स की सम्मान से नवाजे गये लौह नगरी किरंदुल और राष्ट्र के चौथे स्तम्भ…

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!