July 27, 2021
Uncategorized

निजी कंपनी के हाथ आई अगर एनएमडीसी तो होगा अनिश्चित कालीन हड़ताल
मेकान कंपनी के डायरेक्टर प्रोजेक्ट को नही दिया अंदर जाने

Spread the love

जिया न्यूज़:-जगदलपुर,

जगदलपुर:-एनएमडीसी नगरनार में मंगलवार की सुबह 5 सौ के करीब मजदूरों के साथ ही एसएससीओ व एसआईएमएस के पदाधिकारियों ने हैदराबाद से आई मेकान के डायरेक्टर प्रोजेक्ट को अंदर जाने नही देते हुए उसका पुरजोर विरोध करते हुए जमकर नारेबाजी किया, इसके अलावा एनएमडीसी को निजी कंपनी के हाथों दिए जाने से यहां के जुड़े कर्मचारियों का भविष्य खतरे में होने की बात कहते हुए विरोध किया।

एनएमडीसी को निजी हाथों में दिए जाने को लेकर महेंद्र जॉन सचिव ने बताया कि प्रबंधन लगातार मजदूरों को गुमराह कर रही है, इस प्लांट को पहले एनएमडीसी संचालन करता था अब उसे मेकान को दिया जा रहा है, इस बात की जानकारी मिलने के बाद से यहां काम करने वाले जो भू प्रभावित है उनका भविष्य अब खतरे में आ गया है, अधिकारी कोरोना का बहाना बनाकर मीटिंग करने से बच रहे है, यहां काम करने वाले मजदूरों का भविष्य पहले सुरक्षित किया जाए उसके बाद ही इस प्लांट का संचालन किया जाएगा, मेकान कंपनी यहां से निरीक्षण करने के बाद वैकेंसी निकालकर भर्ती करेगी, समिति का कहना है कि अगर प्लांट हमारा नही होगा तो किसी का भी नही होगा।

वही जनरल सेक्रेटरी जितेंद्र नाथ का कहना है कि 2 दिन पहले ही इस बात की जानकारी समाचार पत्रों के माध्यम से पता चला कि मेकान के अधिकारी यहां आकर निरीक्षण करने के बाद रांची से ही नियुक्ति करने की बात कही गई है, यहां करीब 2 हजार के लगभग मजदूर है जो यहां पर काम कर रहे है।
एनएमडीसी के ईडी प्रशांत दास का कहना है कि मेकान की टीम पहली बार नही आये है, इससे पहले भी 8 बार आ चुके है, यहां पर करीब 45 पॉइंट है, उसपर चर्चा करने के लिए आये है, मीटिंग की जानकारी दिया जा चुका है, मैनेजमेंट से भी बात है, जल्द ही इनकी भी मीटिंग किया जाएगा। इस निरीक्षण में किसी भी तरह से छुपाने की कोई बात नही है।
करीब 3 घंटे के लगभग चले इस विरोध प्रदर्शन को देखते हुए एनएमडीसी के ईडी ने मेकान के डायरेक्टर प्रोजेक्ट को अभी आने से मना कर दिया है, बात होने के बाद ही उन्हें प्लांट में आने की बात कही है। इस दौरान डीएसपी आशीष अरोरा, नगरनार थाना प्रभारी शिवशंकर गेंदले, बकावंड चौकी प्रभारी एम्ब्रोज कुजूर के अलावा काफी संख्या में बल मौजूद थे।

Related posts

चाटूकारिता व राजनीति के नशे में इतने चूर हो गये की सरे राह कलमकारों को पुलिस के सामने चाटे मारते रहे..? ओर पुलिस मूकदर्शक बनी सब कुछ देखती रही..? जागो कलमकार अब जागो..!

jia

कोरोना के इलाज में हो रही लापरवाही पर विरोध जताने सड़क पर आए ग्रामीण,

jia

कटेकल्याण में महिला वार्ड की समस्या बरकरार, महिला डॉक्टर होने के बावजूद सेवाएं नहीं ली जा रही

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!