July 29, 2021
Uncategorized

प्रभारी मंत्री लखमा के काफिले ने Covid नियमो कि उड़ाई धज्जियां प्रशासन बनी रही मूक दर्शक-कमलेश झाड़ी

Spread the love

.
जिया न्यूज़:-बिजापुर,

वहीँ आदिवासी इलाके में लोगों की परेशानियों से रूबरू होने पहुंचने वाले तमाम, सामाजिक संगठन, राजनैतिक दलों को covid का हवाला देकर रोका जाता है।

बिजापुर:- हाल ही में बीजापुर जिले के सारकेगुड़ा गाँव मे बरसी मनाई गई जिसमें 17 निहत्ते आदिवासी बचों समेत 2012में फर्जी गोलीकांड में मारे गए थे जिसकी 9वी बरसी 28 जून को मनाई गई।जिसमे सामिल होने कई सामाजिक संगठन, छत्तीसगढ़ बचाओ मंच पूर्व केंद्रीय मंत्री अरविंद नेताम जी के अलावा, सीपीआई बस्तर की टीम भी पहुंची पर उन्हें भैरमगढ़ में ही रोक दिया गया और कहा गया कि आगे आप जा नही सकते कोरोना महामारी है, कंटेन्मेंट जॉन घोषित किया गया है।।आप यहाँ से वापस जाइए।।
आखिर जिला प्रशासन और सूबे की कांग्रेस की सरकार चाहती क्या है।इस तरह लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन करना कहाँ तक जायज है एक के लिए covid है और दूसरे के लिए नही जिसकी cpi कड़ी निंदा करती है।यह जिला प्रशासन का भी दोहरा चरित्र है जो सरकार के इशारे पे काम कर रही है।।
यदि ऐसा नही है तो उन सत्ता के नशे में चूर नेताओं के खिलाफ कार्यवाही करें जो कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ा रहे हैं।। बाजे गाजे के साथ शादी, समारोह,राजनैतिक दौरे कर रहे हैं।
इस तरह की रवैया दौरा चरित्र लोकतंत्र के लिए हानि है जिसकी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी भर्त्सना करती है।।

Related posts

आजादी के बाद पहली बार धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र पहुरनार में फहराया तिरंगा
इंद्रावती नदी में पुल व थाने की मांग के कारण नक्सलियों ने कर दी थी सरपंच की हत्या
पुलिस में शामिल सरपंच पुत्र ने फहराया तिरंगा झंडा
बच्चों, ग्रामीणों व सुरक्षा बल के जवानों ने निकाला शांति मार्च

jia

कोरोना मरीज के मौत के बाद परिजनों ने की डॉक्टर, स्टाफ नर्स से की मारपीट
सुबह डॉक्टर व स्टाफ ने किया विरोध, पहुंचे थाना कराया एफआईआर

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!