November 30, 2022
Uncategorized

नक्सल प्रभावित क्षेत्र में लाल सलाम के बजाय
जय हिन्द की गुज सुनाई देने लगी.

Spread the love

जिया न्यूज़:-बब्बी शर्मा-कोंडागांव,

कोण्डागाँव:-पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज के मार्गदर्शन में कोण्डागांव जिला पुलिस बल तथा आईटीबीपी 29वी वाहिनी तथा सीआरपीएफ 188 वी वाहिनी ने नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में स्थित अपने शिविरों में स्थानीय जनता से बेहतर तालमेल हेतु कुल 45ग्रामीण युवक व युवतियों को पिछले 04 महिनों से शारीरिक एवं बौद्धिक प्रशिक्षण दे कर इनमें से16 युवकों को हाल ही में छत्तीसगढ़ पुलिस भर्ती प्रक्रिया में चयनित होने में सक्षम बनाया जो कि जिले के लिए गर्व की बात है।

विदित हो कि थाना विश्रामपुरी को वर्ष 2007 में नक्सलियों ने लूट लिया था थाना विश्रामपुरी एवं थाना धनोरा आज भी नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के बावजूद भी स्थानीय युवक एवम युवतियां अब मुख्य धारा में जुड़कर शासन के साथ क्षेत्र के विकास में भागीदार बन रहे है।
पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी के निर्देश पर व सेनानी188 वीं वाहिनी(सीआरपीएफ) सुनिल कुमार विश्रामपुरी शिविर एवं आईटीबीपी के 29वाहिनी के सेनानी समरबहादुर सिंह धनोरा शिविर में आरक्षक जी.डी. प्रमोद कुमार राई व प्रधान आरक्षक जी.डी. अन्जनेया एच. एवं आईटीबीपी 29 वीं वाहिनी के धनोरा शिविर से उपनिरीक्षक जी.डी. डोला राम शर्मा, जी.डी. खोत समाधान के द्वारा सेना भर्ती/जिला पुलिस भर्ती का प्रशिक्षण लगन व मेहनत से निःशुल्क दिया गया है।
विश्रामपुरी व धनोरा शिविर बस्तर पुलिस रेंज के विशेष अभियान मनवा नवा नार्र के तहत् चिन्हाकिंत शिविर हैं इन शिविरों को आप पास के क्षेत्रावासियों के लिए समग्र विकास केन्द्र के रूप में उपयोग किये जाने का प्रयास किया जा रहा है।
इसी तारतम्य में पुलिस व सेना भर्ती में लगे युवाओं हेतु जिला कोण्डागांव पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी के निर्देश पर थाना धनोरा व विश्रामपुरी में पुस्तकालय सुविधा व लक्ष्य केन्द्र भी शुरू किए गए हैं जिसका लाभ प्रतियोगी परीक्षा में जुटे स्थानीय युवा उठा रहे है। वर्तमान में कोण्डागांव के विभिन्न सशस्त्र बलों के कैम्प में नक्सल प्रभावित अंचल के 100 से अधिक युवा विभिन्न परीक्षाओं की तैयारी प्राप्त कर हैं जहां उन्हे शारीरिक प्रशिक्षण के साथ-साथ लिखित परीक्षा हेतु उपयोगी सामग्री व प्रशिक्षण निःशुल्क उपलब्ध कराया जा रही है, इससे स्पष्ट है कि नक्सल अंचल में निवासरत युवा अब नक्सलियों की खोखली विचारधारा में नहीं अपितु शासन व समाज की मुख्यधारा में विश्वास कर अपने क्षेत्र के समग्र विकास हेतु प्रगतिरत हैं।

सभी चयनित युवा पुलिस अधीक्षक कार्यालय जिला कोण्डागांव पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी को धन्यवाद ज्ञापित करने पहुंचे जहां पुलिस अधीक्षक सिद्धाथ तिवारी ने सभी चयनित युवाओं को जीवन में ईमानदारी और मेहनत से कार्य करने को कहा व उनके उज्वल भविष्य की कामना करते हुए उन्हे बधाई व शुभकामनाएं देते हुए उपहार दिये।
साथ ही उनके प्रशिक्षकों को भी बधाई देते हुए उनकी निस्वार्थ सेवा को सम्मान देते हुए प्रशस्ति पत्र दे कर गौरवान्वित किया गया।

Related posts

बिलासपुर की अनुकृति को नितिन गडकरी के हाथों मिला इंस्पायर वीमेंस अवार्ड

jia

Chhttisgarh

jia

फिल्मी तरीके से की जा रही दो करोड़ कीअवैध चंदन लकड़ी के तस्कर चढ़े पुलिस के हत्थे, भेजा जेल

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!