August 10, 2022
Uncategorized

बस्तर के जाबांज अब्दुल समीर को चौथी बार मिलेगा राष्ट्रपति वीरता पदक
बोरतलाव जिला राजनान्दगांव में पदस्थ टी.आई. चौथी बार होंगे सम्मानित

Spread the love

जिया न्यूज़:-राजेश जैन-बीजापुर,

बीजापुर :-वर्तमान में राजनांदगांव जिले में पदस्थ निरीक्षक अब्दुल समीर थाना प्रभारी बोरतलाव निवासी-जिला बस्तर को नक्सल विरोधी अभियान के तहत उत्कृष्ठ कार्य करते हुए सराहनीय व साहसिक कार्यों के परिणामस्वरूप राष्ट्रपति के वीरता पदक से चौथी बार अलंकृत किये जाने की घोषणा गणतन्त्र दिवस की पूर्व संध्या पर वर्तमान समय पर की गई है, पूर्व में भी इन्हे नक्सलवादी गतिविधियों पर अंकुश लगाये जाने हेतु किये गये साहसिक कार्य करने के लिये 03 बार राष्ट्रपति के वीरता पदक से अलंकृत किया जा चुका है। इससे पूर्व भी लगातार सराहनीय कार्यो ओर प्राप्त सफ़लता को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों द्वारा कार्यो की सराहना करते हुए पदोन्नति ओर CRPF के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा पुलिस महानिदेशक पदक से अलंकृत किया गया है साथ ही कई बार इनाम ओर नगद राशि, सराहनीय ओर विभागीय कार्यो के सफ़ल सम्पादन हेतु प्रशस्ति पत्र आदि प्रदाय किया गया है ।इस वर्ष 2021 में गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय महापर्व के पूर्व संध्या पर चौथी बार घोषित राष्ट्रपति वीरता पदक उन्हें सुदूर नक्सल प्रभावित जिला-बीजापुर में पदस्थापना के दौरान साथ ही जिला-सुकमा में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सतत मार्गदर्शन में किये गये वीरता, साहसिक कार्य व सफ़लता के परिणामस्वरुप प्राप्त हुआ हैं. यह पदक निरीक्षक अब्दुल समीर को उनके कुशल नेतृत्व में चलाये गये नक्सल विरोधी अभियान में सफलता के परिणामस्वरूप प्राप्त होगा ।उक्त घोषित र पदक आगामी 15 अगस्त 2021 को राजधानी रायपुर में होने वाले राष्ट्रीय महापर्व के आयोजन मे माननीय मुख्यमंत्री महोदय छत्तीसगढ़ शासन से कर कमलो से प्राप्त होगा !

निरीक्षक अब्दुल समीर को यह चौथी बार राष्ट्रपति वीरता पदक वर्ष 2017 में जिला सुकमा के सुदूर नक्सल प्रभावित क्षेत्र थाना चिन्तागुफा में नक्सलियों के गढ़ में घुसकर चलाये गये वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के मार्गदर्शन पर विशेष संयुक्त नक्सल विरोधी अभियान ऑपरेशन-प्रहार के दौरान पुलिस नक्सली मुठभेड़ में चारो तरफ से नक्सलियों से घिर जाने के बाद एवं चारो तरफ से नक्सलियों की गोलीबारी का सामना करते हुए अदम्य साहस एवं वीरता का परिचय देते हुए नक्सलियों के सबसे बड़े संगठन मिलिट्री बटालियन नंo-1 से हुये मुठभेड़ में सफ़लता पूर्वक एक सशस्त्र वर्दीधारी ईनामी नक्सली को मार गिराने व नक्सली शव के साथ आधुनिक हथियार एसएलआरo रायफल, एम्युनेशन व नक्सल सामग्री आदि बरामद करने की महत्वपूर्ण सफलता हासिल किया गया रहा, निरीक्षक अब्दुल समीर की महत्वपूर्ण सफलता यह है कि अपने पुरे कर्तव्य निर्वहन के दौरान वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सतत मार्गदर्शन ओर निर्देशन पर लगातार सुदूर में चलाये गये अब तक के सभी संयुक्त नक्सल विरोधी अभियान के दौरान इनकी टीम में सम्मिलित कोई भी पुलिस अधिकारी/कर्मचारी न ही शहादत हुई बल्कि हर बार अपनी पूरी टीम को लेकर कुशलतापूर्वक ही वापस आये हैं।
उक्त चौथी बार मिलने वाले राष्ट्रपति वीरता पदक के घोषणा उपरांत इसका श्रेय ओर कुंजी, निरीक्षक अब्दुल समीर द्वारा अपने सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सतत कुशल मार्गदर्शन को ओर स्वर्गीय माता-पिता की दुआओ का असर को मानते हैं ओर साथ ही अपने परिजनो, शिक्षको, गुरूजनों, मित्रों व साथी अधिकारी/कर्मचारियों के सतत सहयोग, स्नेह ओर आशिर्वाद का नतीजा होना बताया है !

Related posts

कटेकल्याण में युवा खेल महोत्सव की धूम

jia

बस्तर साँसद श्री दीपक बैज ने लोकसभा दिल्ली में रेलवे बजट पर रेल मंत्री को घेरा

jia

अनजान वीडियो कॉल मतलब ठगी का संकेत
ठगों के द्वारा कर रहे है नए टेक्नोलॉजी का उपयोग

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!