May 17, 2022
Uncategorized

हेरा पंचमी पूजा विधान में महालक्ष्मी की डोली गुडिचा मंदिर पहुंची
गुडिचा मंदिर सिरहासार भवन में हुआ लक्ष्मी-नारायण संवाद

Spread the love

जिया न्यूज़:-जगदलपुर,

जगदलपुर:-बस्तर गोंचा पर्व में आज देर शाम हेरा पंचमी पूजा विधान सम्पन्न हुआ, जिसमें श्रीश्री महालक्ष्मी जी की दो डोली नगर भ्रमण एवं रथ परिक्रमा स्थल से होते हुए गुडिचा मंदिर सिरहासार भवन पहुंची, जहां नाराज श्रीश्री महालक्ष्मी के साथ लक्ष्मी-नारायण संवाद हुआ। जिसके बाद वापस लक्ष्मी जी की दो डोलियां जगन्नाथ मंदिर पहुंची।
बस्तर गोंचा पर्व की रियासत कालीन परंपराओं के अनुसार भगवान जगन्नाथ जी के श्रीमंदिर से रथारूढ़ होकर निकलने के बाद चार दिनों तक वापस श्रीमंदिर नहीं लौटने से भगवान जगन्नाथ के हरण की आशंका से श्रीश्री महालक्ष्मी जी आषाढ शुल्क पक्ष पंचमी को उन्हे ढूढंने निकलने की पौराणिक मान्यताओं के अनुसार मनाये जाने वाले इस पूजा विधान को हेरा पंचमी पूजा विधान के रूप में लक्ष्मी-नारायण संवाद के साथ प्रति वर्ष संपन्न किया जाता है।
360 घर आरण्यक ब्राह्मण समाज के अध्यक्ष ईश्वर खंबारी ने बताया कि बस्तर गोंचा महापर्व का महत्वपूर्ण पड़ाव हेरा पंचमी पूजा विधान में श्री जगन्नाथ मंदिर से दो डोलियां निकाली गई जिसमें परम्परानुसार पहली डोली राजपरिवार, राजगुरू एवं कुवंर परिवार के यहां से होते हुए जगन्नाथ मंदिर के मुख्य द्वार मेंं पहुंची जिसके पश्चात दूसरी डोली भी जगन्नाथ मंदिर से निकाला जाकर दोनों डोलियां एक साथ रथ परिक्रमा स्थल से होते हुए सिरहासार भवन गुडिचा मंदिर पहुंची, भगवान जगन्नाथ को गुडिचा मंदिर में अपनी मौसी के घर मिलने पर नाराज श्रीश्री महालक्ष्मी अपनी नाराजगी भगवान जगन्नाथ के सामने रखने के संवाद को ही लक्ष्मी-नारायण संवाद कहा जाता है। आषाढ शुक्ल पक्ष के पंचमी तिथि पर श्री महालक्ष्मी जी के द्वारा भगवान जगन्नाथ जी के हरण की आशंका से ढूढंने निकलना और भगवान जगन्नाथ को गुडिचा मंदिर
में संवाद की इस परम्परा को हेरा पंचमी पूजा विधान के रूप में मनाया जाता है। यह परम्परा बस्तर में विगत 614 वर्षों से अनवरत जारी है।

Related posts

मेकाज के कौन है वो वारियर्स जिन्हें मिलने वाला है प्रोत्साहन राशि
20 लाख मेकाज और 20 लाख रुपये दिया गया है सीएमओ कार्यालय में

jia

लोन वर्राटु अभियान से प्रभावित होकर 8 लाख के इनामी माओवादी ने किया आत्मसमर्पण आत्मसमर्पित माओवादी विभिन्न नक्सली गतिविधियों में रहा है शामिल

jia

शालेय शिक्षक संघ जिला दंतेवाड़ा ने की 18+ के टीकाकरण में सभी शिक्षकों को वेक्सीन लगाने की मांग

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!