June 17, 2021
Uncategorized

झूठ और झुमले परोसने में महेश गागड़ा और भाजपा माहिर, जीवनरक्षक दवाइयों की कालाबाज़ारी भाजपा करती है – लालू राठौर

Spread the love

जिया न्यूज़:-राजेश जैन-बिजापुर,

भूपेश है तो भरोसा है- लालू राठौर

बीजापुर :- वैश्विक कोरोना काल में प्रदेश की स्वास्थ्य सुविधाएँ सुचारु रूप से संचालित हो रही है। कोरोना की दूसरी लहर केवल छत्तीसगढ़ में ही नहीं पूरे देश में है। वह भी भाजपा शासित उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश और कर्नाटक जैसे राज्यों में तो स्थिति और भी भयावह है। यह सब मोदी और शाह के कुप्रबंधन के कारण हो रहा है जिसने समय रहते स्थिति को समझने के बजाय अपना पूरा समय पाँच राज्यों के चुनाव प्रचार में लगा दिए, कोरोना महामारी की दूसरी लहर को लेकर राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी शाह और उनके उद्योगपति मित्रों की सरकार को बार बार चेताया भी था। कोरोना की दूसरी लहर से देश में प्रतिदिन ढाई लाख तक मरीज़ संक्रमित हो रहे है।
महेश गागड़ा और भाजपा को ये पता होना चाहिए कि कोरोना की वैक्सीन और जीवनरक्षक दवाइयाँ केंद्र ही राज्यों को उपलब्ध करवाती है, स्वाभाविक सी बात है कि राज्य केंद्र से ही माँग करेगी। केंद्र की मोदी, शाह और उनके उद्योगपति मित्रों की सरकार राज्यों को कोरोना वैक्सीन और जीवनरक्षक दवाईयों की आपूर्ति करने में पूरी तरह विफल हो रही है। बावजूद इसके प्रदेश की भूपेश सरकार अपने स्वयं के संसाधनों से कोरोना पर नियंत्रण करने में सफल हो रही है। समय रहते लॉकडाउन कर संक्रमण को फैलने से रोकने में कामयाबी मिल रही है यही कारण है कि आज प्रदेश की स्थिति राष्ट्रीय औसत से बेहतर है।
पिछले पंद्रह सालों के शासनकाल में महेश गागड़ा ज़िला खनिज निधि (DMF) के ही राशि का उपयोग स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में किए होते तो आज जिले में स्वास्थ्य और शिक्षा बेहतर से बेहतर हुआ होता उन्होंने ऐसा नहीं कर ज़िला खनिज निधि के राशि का दुरुपयोग किया और स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे मूलभूत सुविधाओं से लोगों को वंचित होना पड़ा यही कारण है कि पिछले पंद्रह सालों में बीजापुर जिले में ही वर्षों से चल रहे ढाई सौ से भी अधिक स्कूल बंद हो गए जिसका सीधा नुक़सान जिले के गरीब आदिवासी बच्चों को हुआ है।
महेश गागड़ा और भाजपा ने जानबूझकर दवाइयों की कालाबाज़ारी का आरोप लगाकर कोरोनाकाल में महामारी से बचाने अपनी जान जोखिम में डालकर दिन रात लोगों की सेवा करने वाले डॉक्टर, स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस के जवान और ज़िला प्रशासन का अपमान किया है जिसके लिए उन्हें माफ़ी माँगनी चाहिए। उन्हें लगता है कि दवाइयों की कालाबाज़ारी हो रही है तो उन्हें सबूत सहित तत्काल किसी थाने में रिपोर्ट दर्ज करानी चाहिए केवल मीडिया में बने रहने के लिए जिले में ईमानदारी से काम कर रहे लोगों पर दवाइयों की कालाबाज़ारी का आरोप लगाना ये उनके कुंठित और कमजोर मानसिकता को दिखता है।
इस विपरीत समय में प्रदेश की भूपेश सरकार प्रदेश का पूरा प्रशासनिक अमला और बीजापुर जिले के विधायक विक्रम शाह मंडावी और पूरा ज़िला प्रशासन साथ मिलकर कोरोनाकाल में बेहतरीन काम कर रहे हैं जो बधाई के पात्र है।

Related posts

Chhttisgarh

jia

अपना ही खून बन गया खून का प्यासा जमीनी विवाद बना कारण

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!