May 26, 2022
Uncategorized

माओवादियों ने यालम शंकर की हत्या की ली जिम्मेदारी, पुलिस मुखबिरी का लगाया आरोप,
नक्सलियों ने वासम शंकर अंगमपल्ली का नाम का भी मुखबिरी करने का किया जिक्र

Spread the love

जिया न्यूज:-ईश्वर सोनी- बीजापुर /भोपालपटनम,

बिजापुर:-गुरुवार को मद्देड थाना के अंतर्गत अंगमपल्ली गांव में यालम शंकर की माओवादियों ने हत्या करने की जिम्मेदारी ली है। मद्देड एरिया कमेटी माओवादियों ने प्रेस नोट जारी कर लिखा है कि ग्रामीण यालम शंकर पुलिस मुखबिरी का काम करता था इसलिए उसे मौत की सजा दी गई है।
माओवादियों ने लिखा है कि पिछले साल 2019 से ही हमारे पार्टी युवा क्रांति विरोध बनकर पुलिस मुखबिरी कार्य कर रहा था पुलिस अधिकारियों के फायदे के लिए मुखबिरी बनकर हमारे पार्टी की गतिविधियां इनपुट लेकर मद्देड टीआई सहित बीजापुर एसपी तक जानकारी देता था हमेशा दिन-रात कई तरह के काम से जाने की बात बताते हुए उनके द्वारा बनाए वाले नेटवर्क को मजबूत कर हमारे ऊपर निगरानी करने का काम कर रहा था यालम शंकर को केवल पुलिस मुखबिरी नहीं आसपास गांव के लोगों को घमंडी के तौर पर धमकी देने का काम भी कर रहा था जानवर शिकार के नाम से जंगली पहाड़ों में कई बार घूम घूमकर हमारा रेकी भी किया करता था। 26 नवंबर 2021को गौरारम तुमिरगुट्टा के जंगल में डीआरजी के जवानों ने हमारे ऊपर हमले में फोर्स को लाने में आगे रहा है।
हमारी पार्टी की ओर से कई बार सुधरने के लिए चेतावनी भी दी गई थी मगर नही सुधरा पैसे का लालची था। शंकर क्रांतिकारी माओवादी पार्टी व जनविरोधी बन कर काम करने के चलते इसके कामकाज के आधार पर अंत में मौत के घाट उतारना पड़ा ऐसे षड्यंत्र रचने मुखबिर करने वालो को जनअदालत के माध्यम से यही सजा मिलेगी।
माओवादियों ने लिखा है अंगमपल्ली गांव का यालम शंकर ही नहीं उनके साथ उनका पार्टनर वासम शंकर भी पुलिस मुखबिरी में जुटा हुआ है।

Related posts

बस्तर अधिकार मुक्तिमोर्चा के नेतृव में पालक संघ ने जिला कलेक्टर को शिकायत पत्र सौप, सरकारी अंग्रेजी स्कूलों में बच्चो के चयन सूची गड़बड़ी का लगाया आरोप-मुक्तिमोर्चा

jia

आपदाकाल के 18कर्मियों को बगैर सूचना के निकाला, कर्मी सड़कों पर …..

jia

भोपालपट्टनम निकाय के चुनावी दौरे में चुनाव आयोग को लखमा ने दिया चकमा

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!