May 17, 2022
Uncategorized

अधिकतर एटीएम बगैर सुरक्षा गार्ड के, ग्रामीण सायबर क्राइम के हो रहे शिकार

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा-जिले के अधिकांश एटीएम में सुरक्षागार्ड नहीं हैं और कई बैंक तो ग्रामीण इलाकों में भी एटीएम संचालित कर रहे हैं ।

ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों में जागरूकता की कमी स्वाभाविक होती है जिसका लाभ जानकर अपराधी उठा ले जाते हैं ।मसलन, एटीएम में कार्ड का फसना, कुंजीपटल का सही नहीं होना,आदि ।इसी तरह का एक मामला गीदम में हुआ था जिसमे ब्लॉक के कासोली का व्यक्ति अपने किसी रिश्तेदार को रुपये आहरण करने गीदम एटीएम भेजा था ।किसी तकनीकी खामी के वजह से रुपये नही पाने की स्थिति में उसने मलकानगिरी के एक अन्य उपस्थित व्यक्ति से सहायता मांगी ।उस व्यक्ति ने मौके का लाभ उठाते 60-65 हजार रुपये अपने खाते में ट्रांसफर करा लिया और संबंधित को 5 हजार रुपये देकर वापस भेज दिया ।जब यह मामला समझ मे आया तो खाता अंतरण की जांच में अपराधी तो जरूर पकड़ा गया और उसे थाना भी लाया गया था इस बीच भाजपा के वर्तमान जिलामंत्री सत्यनारायण महापात्र ने भूमिका निभाते पीड़ित पक्ष को मलकानगिरी के अपराधी से राशि वापस दिलाई ।सवाल यह है कि इस तरह की घटनाएं अगर बैंक चाहे तो रुक सकती हैं लेकिन शुल्क लेकर भी ग्राहक को सुविधा नहीं देना प्रत्येक बैंक ने परंपरा बना रखी है जिसका खामियाजा ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं को अधिक होता है ।कई मामले तो प्रकाश में भी नहीं आ पाते केवल चर्चा तक सीमित होते हैं ।बैंकों ने अपने एटीएम तो लगा रखे हैं लेकिन सीसी टीवी कैमरा, सुरक्षागार्ड आदि नहीं होते ।उम्मीद की जाएगी कि बैंक अपनी सेवाओं से ग्राहकों को संतुष्ट करने की दिशा में कदम उठाएंगे अन्यथा लोग बैंक से दूरी बनाने लग जाएंगे ।

Related posts

नक्सलियो द्वारा भारत बंद के आह्वान के बीच लोन वर्राटू से प्रभावित होकर एक इनामी सहित चार माओवादियों ने थाना किरंदुल में किया आत्मसमर्पण

jia

मेकाज में फिर आ रहे है कोरोना के मरीज अभी संख्या हुए 8
सीआरपीएफ के सभी बताए जा रहे है जवान, डॉक्टर की टीम कर रही इलाज

jia

फरिश्ता बन कर 40किलोमीटर पैदल चलकर ग्रामीणों तक पहुंची मेडिकल टीम-सेंड्रा क्षेत्र के 20गांव के 980 ग्रामीणों का किया इलाज

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!