June 25, 2021
Uncategorized

NMDCके बस्तर विकास निधि 36 करोड़ की लागत से 19km सड़क निर्माण में 17km की सड़क भ्र्ष्टाचार की भेंट,जाँच पूरी,कार्यवाही क्यों?नही-मुक्तिमोर्चा

Spread the love

जिया न्यूज़:-जगदलपुर,

मारेंगा बाईपास सड़क पुनः निर्माण करने जगह ,विभागीय मरमत कार्य प्रारंभ करना बस्तर के साथ धोखा-मुक्तिमोर्चा

जनप्रतिनिधियों की उदासीनता,प्रशासनिक लापरवाही,ठेकेदार से विभागीय संलिप्ता का जीवंत उदाहरण मारेंगा बाईपास सड़क भ्र्ष्टाचार-नवनीत चाँद

सम्पूर्ण दस्तावेज के साथ,मुख्यमंत्री, जांच एजेंशी, विभागीय अधिकारी व स्थानीय जनप्रतिनिधियों को ध्यानाकर्षण ज्ञापन सौप,भ्र्ष्टाचार पर कार्यवाही का जवाब मांगेगा,बस्तर अधिकार मुक्तिमोर्चा-नवनीत

जगदलपुर:-बस्तर अधिकार मुक्तिमोर्चा के सम्भागीय सयोंजक नवनीत चाँद ने अपने जारी बयान में कहा कि ,एन एच 30 व एन एच 16 को जोड़ने वाली 19 किलोमीटर की मारेंगा बाईपास सड़क में विभागीय संलिप्तता में ठकेदार द्वारा किये गए भ्र्ष्टाचार के चलते 17 किलोमीटर की सड़क की बदहाल अवस्था पर ,कई विधानसभा प्रश्न ,ध्यानाकर्षण व विभागीय तकनीकी समिति व कमिश्नर बस्तर के जांच उपरांत बड़े भ्र्ष्टाचार उजागर होने के बावजूद भी सड़क पर पुनः नवनिर्माण करने की बजाए बार -बार आंदोलन की चेतावनी की डर से, ठेकेदार के जप्त कुछ जमानत राशि व विभागीय सड़क रख रखाव निधि से सम्बंधित विभाग द्वारा सड़क पर पुनः निर्माण की बजाए थूक पालिश मरम्मत कार्य करवाया जाना ,बस्तर के विकास राशि से बस्तर से बहार के ठेकेदारो को लूट- पाट की स्वतंत्रता प्रदान करने व बस्तर के निवाशियो के विसवास से धोका दिए जाना जैसी घटना है। विडंबना यह है। स्थानीय विभागीय अधिकारियों की खुली लूट की मंशा को जांच के उपरांत जाने के बाद भी ,जांच रिपोर्ट पर कार्यवाही व राशि वशूली की अनुशंसा देख कर भी ,स्थानीय जनप्रतिनिधियों की उदासीनता भरी चुपी, प्रशासन की आँख बन्द कर की जा रही लापरवाही, व इस सड़क निर्माण में जांच एजेंसियों द्वारा भ्र्ष्टाचार में लिप्त बताये गए विभागीय अधिकारियों पर कार्यवाही की बजाए, उन्ही पदों पर वर्तमान में कार्यरत किया जाना। बस्तर के लोगो के विकास के सपनो के साथ राज्य सरकार व स्थानीय जिमेदार विभाग व प्रशासन एक भद्दा मजाक व अन्याय है। बस्तर अधिकार मुक्तिमोर्चा ऐसी घटनाओं का कड़ी निंदा करते हुए ,सड़क के पुनः निर्माण की मांग व सड़क निर्माण के भ्र्ष्टाचार में जांच के दौरान प्रथम दृष्टिकोण में दोषी अधिकारी, कर्मचारियों व ठेकेदार पर कार्यवाही की मांग व अब कार्यवाही में देरी का कारण जाने हेतु जिले के जनप्रतिनिधियों ,जिला प्रशासन व विभागीय अधिकारियों को ध्यानाकर्षण ज्ञापन सौप व उनके हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन की प्रतिलिपि बस्तर पधार रहे, राज्य के मुख्यमंत्री को स्थानीय प्रशासन से मिलने का समय ले, बस्तर के सबसे बड़े भ्र्ष्टाचार व अब तक दोषियों पर कार्यवाही न होने की वजह पूछा जाएगा ,व उन से निवेदन किया जाएगा, कि वह बस्तर के दौरे में ही जांच एजेंसियों की जांच रिपोर्ट तलब कर दोषियों पर कार्यवाही व बस्तर में एन एच 30 व 16 को जोड़ने वाली वैकल्पिक मारेंगा बाई पास सड़क के पुनः निर्माण हेतु सम्भावित बजट राशि स्वीकृत कर के जाए ,ताकि बस्तर वाशियो को उनके विपक्षीय कार्यकाल के समय उनके वादों का ,जमीनी धरातल क्रियान्वयन की झलक महसूस हो सके वह भविष्य में इस तरह की घटनाओं पर पूरी तरह अंकुश लग सके

Related posts

कोरोना महामारी को देखते हुए,टीकाकरण का महत्व अब बढ़ने लगा है।
तमाम विवादों के बीच टीकाकरण केंद्रों में भीड़ बढ़ने लगी है।

jia

Chhttisgarh

jia

बैंक आये ग्रामीण का मोटरसाइकिल हुआ चोरी
बोधघाट पुलिस ने चंद घंटे में , वाहन किया बरामद

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!