September 23, 2021
Uncategorized

नाम बदलने की कला में सिर्फ भाजपाई माहिर है-विमल सलाम

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा:-शहीद महेंद्र कर्मा जी के नाम पर अस्पताल का नामकरण होने पर राजनीति गर्मा चुकी है। जहाँ एक और भाजपाई राज्य शासन पर आरोप लगाए जा रही है तो वही दूसरी ओर कांग्रेसी नेता इस बात का खंडन किये जा रहे है । हाल में अपने बयान से कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए भाजपा के जिलाध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेसी सिर्फ योजनाओं का नाम बदल कर वाहवाही लूट रहे है जिसपर तीखा जवाब देते हुए युवा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष विमल सलाम ने कटाक्ष किया है कि यह नाम अदला बदला करने की प्रथा में भाजपाई ही माहिर है । कांग्रेस शासन ने हमेशा ज़मीनी विकास पर ध्यान दिया है ।

युंका जिलाध्यक्ष विमल सलाम ने अपने जारी बयान में कहा कि भाजपाईयो को जिस तरह से छत्तीसगढ़ और बस्तर की जनता ने नकारा है तो यह बात भाजपाइयों के गले नहीं उतर पा रही है । इसलिए उल जलूल बयान देकर सिर्फ जनता को भड़का रही है भाजपा । विमल सलाम ने भाजपा के प्रदेश नेतृत्व को भी आड़े हाँथ लेते हुए जवाब दिया है कि पहले केंद्र सरकार के कार्यो की ओर ध्यान की कैसे मोदी सरकार ने अपने दोनों कार्यकाल में जनता को सिर्फ जुमला ही दिया है और एक भी विकासकारी योजना लाने के बजाए सिर्फ पूर्व के कांग्रेस की सरकार की योजनाओं को बदल कर वाह वाही बटोर रही है, जिसका हाल ही में उदाहरण रहा है गुजरात का क्रिकेट स्टेडियम जिसका नाम प्रधानमंत्री जी ने आपने नाम पर रख दिया है । “कर्मा – कश्यप ” जी की राजनीति को सहारा बना कर भाजपाई जो बयान दे रहे है वो सिर्फ उनका ढोंग मात्र है । अगर भाजपाईयो ने जनता की समस्याओं का इतना ही ख्याल किया होता तो आज बस्तर से उनका सूपड़ा साफ नही हुआ होता ।

विमल सलाम ने भाजपाइयों को समझाइश देते हुए कहा कि बस्तर की जनता को गुमराह करना बंद करे की राज्य शासन ने "स्व.बलिराम कश्यप मेडिकल महाविद्यालय" का नाम बदला है कर के । भाजपाइयों में अगर राजनीतिक चरित्र बची है तो जनता को समझाए की "सह- अस्पताल" का नाम "शहीद कर्मा जी" के नाम पर किया गया है । अपने राजनीतिक कार्यकाल में बस्तर के दोनों नेताओ ने साथ मिलकर बस्तर के हित में कार्य किया है और आज भी दोनों महापुरषो के नाम से एक ही परिसर में संचालित स्वास्थ्य सेवाओं के माध्यम से बस्तर की जनता की सेवा कर रहे है । विमल सलाम जी ने कहा कि भाजपाई अगर अपना राजनीतिक चश्मा उतार कर देखेंगे तो जरूर ही इसमें उन्हें बस्तर के हित समझ आएगा ।

Related posts

कोरोनाकाल में सरकार व बस्तर प्रशासन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं वह स्वसहायता समुह पर अन्याय करना बंद करें–मुक्ति मोर्चा महिला बाल विकास द्वारा संचालित योजनाओं हेतु अनुबंधित स्वसहायता समुहों पर समाग्री एक ही विक्रेता से खरीदने का दबाव बनाना अनुचित कार्य–मुक्ति मोर्चा बस्तर जिले के सभी के स्वसहायता समुह व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने बस्तर अधिकार मुक्ति मोर्चा से मुलाकात कर न्याय लड़ाई लड़ने हेतु लगाई गुहार– मुक्ति मोर्चा बस्तर के आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को कोरोनाकाल में DMF की राशि से मिले विशेष भत्ता व 50लाख का बीमा– मुक्ति मोर्चा

jia

लोन वर्राटू से प्रभावित होकर दो इनामी सहित पांच माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण
पुलिस विरोधी विभिन्न नक्सल गतिविधियों में रहे है शामिल

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!