September 26, 2021

नगर में बढ़ रहे अपराध व चोरी की घटनाओं पर नियंत्रण के लिये व्यापारी संघ द्वारा नगर के सांस्कृतिक भवन में की गयी बैठकआयोजित नगर व समाज से जुड़े मुद्दों पर विभिन्न मुद्दों पर की गयी सार्थक चर्चा

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा/गीदम,

गीदम:-नगर में बढ़ रहे अपराध व चोरी की घटनाओं पर नियंत्रण के लिए व्यापारी संघ द्वारा नगर के सांस्कृतिक भवन में बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक में नगर के सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधिगण, नगर प्रशासन व नगर के सभी सम्मानीय व्यापारीगण उपस्थित रहे। इस बैठक में भाजपा नेता विजय तिवारी, चैतराम अटामी, कांग्रेस नेता अशोक बुरड़, विमल सुराना, नंदू सुराना, जया कश्यप, बोमड़ा राम कवासी, नितिन विश्वकर्मा, अभिलाष तिवारी, थाना प्रभारी गोविंद यादव व अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे। इस बैठक में व्यापारी संघ अध्यक्ष रजनीश सुराणा ने कहा कि नगर में लगातार नशीले पदार्थ जैसे चरस, गांजा, कोरेक्स व अन्य नशीली वस्तुओं की खुलेआम बिक्री हो रही है। जिससे नगर में लगातार अपराधिक प्रवृत्ति के लोग बढ़कर अपराधों को अंजाम दे रहे हैं। पुलिस प्रशासन उदासीन हो चुका है। और उसका कानून व्यवस्था पर कोई नियंत्रण नहीं है। नगर में कई मामले सामने आ चुके हैं। जिसमें पुलिस प्रशासन की लापरवाही खुलकर सामने आ रही है। भरी सभा मे व्यापारी संघ अध्यक्ष रजनीश सुराना ने पुलिस प्रशासन पर एक चरस गांजा का कारोबार करने वाले एक व्यक्ति को पुलिस द्वारा पकड़ने के बाद उससे तीस हजार रुपये का लेनदेन करने के बाद उसे छोड़ने का मुद्दा भी जोरशोर से उठाया साथ ही अन्य कई मामलों में पुलिस ने विभिन्न अपराधिक प्रवृत्ति को लोगों को पकड़ा था लेकिन बाद में पैसे का लेनदेन करके उनको बिना किसी सजा के छोड़ दिया गया। इससे अपराधी प्रवृत्ति के लोगो के हौसले बुलंद हो रहे है जिससे नगर में लगातार दिनदहाड़े चोरी व अन्य अपराधिक वारदातें बढ़ रही है। जिससे नगर के लोगों में भय व डर का माहौल उत्पन्न हो रहा है। इन सब पर नगर के सभी लोगों को विचार करना चाहिये और पुलिस प्रशासन को इन गतिविधियों पर कड़ाई से नियंत्रण करना चाहिये। जिससे कि नगर में अपराधिक गतिविधियां कम हो सके। इस बैठक में नगर में बढ़ती दुर्घटनाओं के मद्देनजर वाहनों की गति पर नियंत्रण करने बाबत, व पुलिस थाने के शहर से बाहर होने कारण शहर के अंदर अपराधिक गतिविधियां बढ़ने पर पुराने थाने में चौकी की व्यवस्था करने बाबत व बाहर से आये लोगों का पुलिस में रिकॉर्ड रखने आदि बातों पर चर्चा की गयी। वही इस बैठक में नगर के चुने हुये चुनिंदा जनप्रतिनिधियो के अलावा अन्य जनप्रतिनिधियों के उपस्थित नही रहने पर व्यापारी संघ ने रोष जताया और निर्णय लिया कि भविष्य में नगर पंचायत के किसी भी बैठक व गतिविधियों का व्यापारी संघ समर्थन नही करेगा। वही व्यापारी संघ के अध्यक्ष रजनीश सुराना ने कहा कि नगर के चुने हुये जनप्रतिनिधियों का नगर के अहम मुद्दों में शामिल ना होना उनके नगर, समाज व उनके दायित्वों के प्रति उदासीनता को दर्शाता है। अब देखने वाली बात यह है कि इतनी लंबी जद्दोजहद और बैठक के बाद पुलिस प्रशासन इन पर किस प्रकार अमल करता है और क्या कार्यवाही करता है। और नगर की कानून व्यवस्था में किस प्रकार सुधार लाने का प्रयास पुलिस प्रशासन द्वारा किया जायेगा यह सवाल का जवाब आगे पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली पर निर्भर करेगा।

error: Content is protected !!