September 21, 2021
Uncategorized

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में जेल बंदी रिहाई मंच के द्वारा समेली बोड़े पारा में आयोजित किया गया कार्यक्रम

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा/समेली

सोनी सोढ़ी ने आरोप लगाया कि पुलिस महिलाओं को कार्यक्रम स्थल तक पहुंचे नहीं दे रही

पुलिस प्रशासन के इस कृत्य पर काला झंडा दिखाकर महिलाये कर रही विरोध प्रदर्शन

दंतेवाड़ा:-अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में जेल बंदी रिहाई मंच के द्वारा बस्तर की 5000 आदिवासी महिलाओं का सम्मेलन समेली बोड़े पारा में रखा गया था। इस कार्यक्रम में

महिला सशक्तिकरण, त्याग, जनसंपर्क जनसेवा में महिलाओं की भागीदारी को याद करने और उनको सम्मानित करने के लिए दो दिवसीय सांस्कृतिक व सामाजिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। लेकिन किसी वजहो से यह कार्यकम नही हो पाया। जिस पर सोनी सोढ़ी ने आरोप लगाते हुये कहा कि पुलिस महिलाओं को कार्यक्रम स्थल तक पहुंचे नहीं दे रही है। हमारी मन की इच्छा थी कि बस्तर की महिलाएं एक जगह एकत्रित हो और वह भी अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के बारे में जाने और इस दिन अपने आप को स्वतंत्र महसूस करे व विभिन्न आयोजनों में शामिल हो। लेकिन पुलिस महिलाओं को प्रताड़ित कर कार्यक्रम स्थल तक पहुंचने नही दे रही है।

इसलिए हम पुलिस प्रशासन के इस कृत्य पर काला झंडा दिखाकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं जिससे कि सभी को मालूम हो कि बस्तर में महिलाओं की स्थिति किस प्रकार है।बस्तर के अंदरूनी इलाको में महिलाओं के अधिकार व न्याय की बात सरकार का झुठा दिखावा है।साथ ही पुलिस व शासन द्वारा बस्तर की महिलाओं को महिला दिवस बनाने से रोकना, असंवैधानिक कृत्य है।गौरतलब है कि अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में बस्तर की बेटी पांडे कवासी की दंतेवाड़ा पुलिस कस्टडी में हुई मौत पर न्याय की मांग को लेकर जेल बंदी

रिहायी मंच द्वारा ज़िला के समेली ग्राम पंचायत में आयोजित अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के कार्यक्रम में सोनी सोढ़ी व अमित जोगी भी पहुचे थे। सोनी सोढ़ी ने कहा कि लोगो को गांव में बंधक बना कर रखा जा रहा है। आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस में समेली गांव में कार्यक्रम को न होने देना महिलाओ को अपने ही गांव में जबरदस्ती रोकना इस बात का परिचायक है कि दक्षिण बस्तर में पुलिस व सरकार की असंवैधानिक नीतियां चल रही है। आज का दिन दक्षिण बस्तर के महिलाओ के लिए अधिकार दिवस था। पर राज्य सरकार की दमनकारी शोषण कदम ने यहाँ की महिलाओं को काला दिवस मनाने पर मजबूर कर दिया है।

Related posts

जिला पंचायत सदस्य बीजापुर कांग्रेसी नेता बुधराम कश्यप की नक्सलियों ने की हत्या,क्षेत्र में मातम, मिलनसार व्यक्ति थे बुधराम

jia

सुकमा के वार्ड नं 06 में किया गया कुँए का निर्माण पेयजल की समस्या का किया गया निराकरण

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!