June 23, 2021
Uncategorized

गांव-गली व मोहल्ले में दीवार लेखन के जरिये दे रहे शिक्षा

Spread the love

जिया न्यूज़:-बेमेतरा से अरुण कुमार सोनी की रिपोर्ट,

बेमेतरा :-जिला परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा बेमेतरा के निर्देशानुसार दीवार लेखन कार्य गांव-गली और मोहल्ला व शालाओं में जोरों से चल रहा है। शासकीय प्राथमिक शाला मुर्रा एवं प्राथमिक शाला मगरघटा, संकुल केन्द्र नांदघाट विकासखण्ड नवागढ़ व प्राथमिक शाला कन्तेली विकासखण्ड बेमेतरा में शिक्षक एवं शिक्षिकाएं गांव-गली और मोहल्ला व शालाओं में दीवार लेखन का कार्य कर रहे है।

दीवाल से छपी हुई शिक्षा को प्राप्त करने के लिये बच्चो को प्रेरित किया जा रहा है। इस कार्य में लगे शिक्षिका ने बताया की छात्रों के लिए साक्षरता का पहला चरण वह होता है, जब वे इस बात से अवगत होने लगते है कि उनके चारो ओर दिखाई देने वाले प्रिंट में कोई अर्थ छिपा होता है। प्रिंटरिच वातावरण शिक्षा के माध्यम से बच्चे हर समय दीवार में लिखे लेखन को देखता रहता है जिससे उसे जल्दी ही वह लेखन याद हो जाता है। घर पर और समुदाय में परिवेशी प्रिंट ही अक्सर वह पहला लेखन होता है, जिसे पढ़ना छात्र सीखते है, यह ऐसा लेखन है जो दैनिक जीवन का एक अंग है। हमारे आस-पास विभिन्न संकेतो, अखबारो, पैकटो और पोस्टरो पर दिखने वाला लेखन आदि। छात्र जब स्कूल आते हैं तो परिवेशी प्रिंट के नए स्वरूप देखने को मिलते है, चार्ट, सूचियाँ, अनुसूची लेबल और इसी तरह की पठन सामग्री आदि। शिक्षक अंग्रेजी सीखाने के लिए स्कूल और समुदाय का अच्छा उपयोग कर सकते है। गांव-गली और मोहल्ला में बच्चो के पढ़ने के लिए प्रिंट रिच शैक्षिक वातावरण तैयार कर कक्षा पहली से पांचवी तक के बच्चों के लिए शासकीय प्राथमिक शाला मुर्रा, प्राथमिक शाला मगरघटा के शिक्षिकाओ व शिक्षको के द्वारा दीवार लेखन किया जा रहा हैं। जिससे बच्चे अपने कक्षा अनुरूप दक्षता प्राप्त कर सके। दीवाल लेखन में सभी शिक्षक, शिक्षिकाएं व प्रधान पाठक सभी उपस्थित थे।

Related posts

नगरीय क्षेत्र में गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले लोगो को किया जा रहा मच्छरदानी का वितरण

jia

Chhttisgarh

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!