December 5, 2021
Uncategorized

जनहित के मुद्दे पर भी मूकदर्शक बने जनप्रतिनिधि, गैरदलीय समाज में आक्रोश, लाल जहर परोसने का मामला

Spread the love

जिया न्यूज़:दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा :-18 सर्व मूल बस्तरिया समाज दंतेवाड़ा के

अध्यक्ष सत्य नारायण कर्मा जी ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि दंतेवाड़ा जिला आस्था का केंद्र है। दंतेवाड़ा में दंतेश्वरी माई विराजमान है, जहां छोटे से लेकर बड़े बड़े राजनेता मत्था टेक कर अपनी-अपनी मनौती मांगते हैं। उसी के स्थल (माई की बगिया) जो डंकिनी नदी के तट पर स्थित है उसे आज जहरीले पदार्थ से पाटा जा रहा है। जिसे स्थानीय जनप्रतिनिधि मूकदर्शक बन कर देख रहे हैं जो न्यायोचित नही होने के साथ जनहित में नही है। ज्ञात हो कि प्राण दायिनी शंखिनी नदी उद्गम स्थल से निकल कर कई ग्रामीण क्षेत्रों से होकर दंतेवाड़ा मे डकिनी नदी से मिल कर इंद्रावती नदी से मिलती है वह लौह-अयस्क के अपशिष्ट पदार्थ से पुरी तरह दुषित हो चुकी है जिसे लाल पानी की नदी (लाल नदी) के नाम से जाना जाता है जो वन्य जीवों व पशु पक्षियों के लिए भी पीने योग्य नही बचा है। अब प्राण दायिनी डंकिनी नदी का भी वही हाल हो रहा है। जहरीले अपशिष्ट पदार्थ से जनहानि व वन्य जीवों, जल जीवों पालतू पशुओं की हानि होने की अपार संभावनाएं हैं। यह पर्यावरण के लिए भी काफी नुकसानदेह है। ऐसे कार्यों की 18 सर्व मूल बस्तरिया समाज दंतेवाड़ा विरोध करती है। किसी भी प्रकार से आस्था व जनहित के प्रति समझौता नही किया जाएगा। जिसे देखते हुए पूरा समाज सड़क पर उतरने हेतु तैयार खड़ा है।

Related posts

आश्रम की छात्रा हुई डिस्चार्ज, एक नई कोरोना मरीज पहुँची मेकाज
दरभा क्षेत्र से पहुँची महिला, कुछ दिन पहले भी भर्ती थी महिला

jia

जिले में रोका छेका अभियान फेल, लावारिश पशुओं पर नियंत्रण नहीं, दुर्घटनाएं बढ़ी ।

jia

घर के बाहर खेल रही बच्ची से बुजुर्ग ने किया अनाचार
परिजनों के रिपोर्ट पर पुलिस ने किया बुजुर्ग को गिरफ्तार

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!