January 27, 2023
Uncategorized

स्वदेशी बचाओ, भारत स्वाभिमान यात्रा के प्रणेता की पुण्यतिथि, श्रद्धांजलि व संगोष्ठी का आयोजन

Spread the love

जिया न्यूज:-अरूण सोनी- बेमेतरा,

बेमेतरा:-स्वदेशी बचाओ,भारत स्वाभिमान यात्रा के प्रणेता पंडित स्वर्गीय राजीव दीक्षित की पुण्यतिथि के अवसर पर आज राम मंदिर प्रांगण में श्रद्धांजलि सभा व संगोष्ठी का आयोजन किया गया है। इस आयोजन समिति के संरक्षक पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष विजय सिन्हा ने राजीव दीक्षित के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वर्ष 1991 में उन्होंने स्वदेशी बचाओ आंदोलन शुरू किया था। वे 1999 में भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के सचिव के साथ पतंजलि योगपीठ हरिद्वार में बाबा रामदेव के साथ काम कर रहे थे।

वे चंद्रशेखर आजाद, उधम सिंह और भगत सिंह जैसे भारतीय कान्तिकारियो की विचार धाराओं से प्रभावित थे। राजा पांडेय बेमेतरा जिला प्रचारक व प्रशान्त बैस जिला मुंगेली के प्रचारक ने राजीव दीक्षित के जीवन में प्रकाश डालते हुए कहा कि राजीव दीक्षित अपने मानव-जीवन का एक सेकेंड भी बर्बाद नही किया। उन्होंने स्वास्थ्य, भारतीय शिक्षा, स्वदेशी की ताकत, राजनीति, सामाजिक बुराइया, कैसे विदेशी कंपनियां भारत को बर्बाद कर रही हैं, ऋषि-मुनि, भारत के त्योहार, भारत के लोकदेवता सभी विषयों पर पूरे गहरे रिसर्च के साथ हिंदुस्तानियों को अमूल्य ज्ञान मुफ्त में बाट के गये। अब आपका कर्तव्य है, की इस ज्ञान को अपने सभी मित्रों, परिवार और रिश्तेदारों के साथ शेयर करके उनके सपनों का भारत का निर्माण करने में अपनी भूमिका निभाये। उन्होंने महात्मा गांधी के शुरुआती कार्यों की सराहना की। उनका जीवन भी शराब और “गुटखा” उत्पादन,गाय-कोमलता और सामाजिक अन्यायों को रोकना जैसे कारणों के लिए समर्पित था।सन 1999 में राजीव दीक्षित की मुलाक़ात योग गुरु स्वामी रामदेव से हुयी थी जो उस समय योग को देश में फ़ैलाने के लिए अग्रसर थे | अब स्वामी रामदेव से मुलकात के बाद उन्होंने भारत को स्वावलम्बी और स्वदेशी बनाने के लिए दस वर्षो तक अथक प्रयास किया था | दस वर्षो के बाद दोनों ने मिलकर 2009 में “भारत स्वाभिमान ” की स्थापना की थी | इस “भारत स्वाभिमान ” के राष्ट्रीय सचिव का पद राजीव दीक्षित को दिया गया | बाबा रामदेव भी राजीव जी के व्याख्यानों से इतने प्रेरित थे कि उन्होंने कई व्याख्यान अपने पतंजली योगपीठ में करवाए ताकि उनकी बात टीवी के माध्यम से पुरे देश की जनता तक पहुचे |1 अप्रैल 2009 को भारत स्वाभिमान का उद्घाटन हुआ था जिसे आस्था टीवी चैनल पर सीधा प्रसारित किया गया था | यही से उनकी लोकप्रियता चरम सीमा पर पहुच गयी थी और देश के करोड़ो लोग उनके व्याख्यान सुनने लगे | उनके व्याख्यान इतनी सरल भाषा में होते थे जिनको समझना बड़ा आसान था | उनके व्याख्यानों से देश के लोगो को भारत का वास्तविक इतिहास और स्वदेशी की महता का पता चला था | उन्होंने इस भारत स्वाभिमान के तहत कई विदेशी कंपनियों का खुलासा किया था जो भारत को अनेक वर्षो से लुट रही है | उनको राजीनीतिक पार्टियों से भी आपत्ति थी और उन पर खुलकर प्रहार करते थे | इसी के साथ उन्होंने अंग्रेजी शिक्षा पद्धति , देश के सविधान ,कानून प्रणाली जैसे कई मुद्दों पर तथ्यों के साथ अपने व्याख्यान दिए थे।उनकी याद में आज राम मंदिर प्रांगण में श्रद्धांजलि सभा व संगोष्ठी का आयोजन किया गया है।जिसमें नगर के सैकड़ों गण्यमान्य नागरिक उपस्थित होकर श्रद्धांजलि सभा व संगोष्ठी में शामिल हुए हैं।

Related posts

लापता जवान की नक्सलियों ने की हत्या,बिजापुर गंगालूर सड़क मार्ग में फेंका शव

jia

गीदम नगर को मिलेगा वर्षों पुरानी पानी की समस्या से निजात
घर-घर तक नल से जल पहुंचाने का सपना होगा साकार

jia

मोटर सायकल चोरी करने वाला शातिर चोर पुलिस की गिरफ्त में।
मोटर सायकल चोर पर बोधघाट पुलिस की बड़ी कार्यवाही।

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!