October 21, 2021
Uncategorized

श्री गोंचा रथयात्रा तुपकी के सलामी के साथ सिरहासार ”गुडि़चा मंदिर” पहुंची
बस्तर महाराजा कमलचंद्र ने छेरा बाहरा पूजा का निर्वाहन किया

Spread the love

 जिया न्यूज़:-जगदलपुर,

जगदलपुर:-बस्तर गोंचा महापर्व का आगाज चंदन जात्रा के साथ 24 जुलाई से प्रारंभ हो चुका है। 11 जुलाई को नेत्रोत्सव पूजा विधान के पश्चात आज दोपहर श्री गोंचा रथयात्रा पूजा विधान सम्पन्न किया गया। जिसके तहत तीन रथों में भगवान जगन्नाथ, बलभद्र, सुभद्रा के विग्रहों को परम्परानुसार रथारूढ़ किया गया तथा 360 घर आरण्यक ब्राह्मण समाज के पाढ़ी एवं पानीग्राही के द्वारा विधिवत पूजा सम्पन्न करवाई गई, जिसमें बस्तर महाराज कमलचंद्र भंजदेव ने छेरा बाहरा पूजा का निर्वाहन 360 घर आरण्यक ब्राह्मणों के मार्गदर्शन में सम्पन्न किया।
          

बस्तर गोंचा महावर्प के श्री गोंचा रथयात्रा पूजा विधान में भगवान जगन्नाथ की परम्परानुसार पूजा-अर्चना के बाद 360 घर ब्राह्मण आरण्यक समाज अध्यक्ष ईश्वर नाथ खम्बारी एवं समाज प्रतिनिधि के द्वारा राजमहल पहुंचकर ससम्मान महाराजा कमलचंद्र भंजदेव को बाजे-गाजे के साथ जगन्नाथ मंदिर लाया गया। जिसके पश्चात भगवान जगन्नाथ के विग्रहों को रथारूढ़ करने के बाद, रथारूढ़ भगवान जगन्नाथ, बलभद्र स्वामी एवं माता सुभद्रा की पूजा 360 घर आरण्यक ब्राह्मण समाज के पंडितों द्वारा सम्पन्न कराया गया। तत्पश्चात बस्तर महाराजा कमलचंद्र भंजदेव के द्वारा छेरा बाहरा पूजा का निर्वाहन किया गया। इसके साथ ही हरि बोलो के जयघोष के साथ तथा तुपकी की गगन भेदी सलामी के साथ भगवान जगन्नाथ के तीन रथों की परिक्रमा रथ परिक्रमा स्थल से होते हुए सिरहासार भवन ”गुडि़चा मंदिर” पहुंची।

जहां भगवान जगन्नाथ, बलभद्र स्वमी एवं माता सुभद्रा के विग्रहों को स्थापित किया गया। आगामी 20 जुलाई तक भगवान जगन्नाथ स्वामी श्री मंदिर से बाहर सिरहासार भवन ”गुडि़चा मंदिर” में श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ रहेंगे।
          बस्तर गोंचा महापर्व अपने विलक्षण परम्पराओं एवं बस्तर के मान्यताओं के कारण विश्व में अपनी अलग पहचान रखता है। श्री गोंचा रथ यात्रा पूजा विधान को सम्पन्न कराना यह अनोखी परम्परा के 614 वर्ष के बाद भी अनवरत जारी  रहना ही बस्तर गोंचा महापर्व की विलक्षणता को दर्शाता है। 

Related posts

संयुक्त राष्ट्र अंतरराष्ट्रीय वॉलंटियर दिवस एवं विश्व मृदा दिवस पर ग्रीन केयर सोसायटी ने किया कार्यक्रम।

jia

कोतवाली पुलिस का मानवीय चेहरा आया सामने, सालभर से गुम युवक को परिजनों को सौंपा

jia

होली की तैयारी गुलाब, गेंदा और भाजियों से महिलाएं तैयार कर रहीं हर्बल गुलाल

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!